Big News: Shahdol Medical College में ऑक्सीजन खत्म होने से 10 से ज्यादा मरीजों की मौत

Shahdol News

शहडोल। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के शहडोल (Shahdol) में जहां एक तरफ कोरोना वायरस (Corona virus) तेजी से अपने पाव पसार रहा है, तो वहीं जिले के शहडोल मेडिकल कॉलेज (Shahdol Medical College) में शनिवार की देर रात ऑक्सीजन खत्म होने से कोविड केयर सेंटर में अफरा-तफरी मच गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार, ऑक्सीजन की कमी होने से 10 से ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीजों (Corona infected patients) की दम घुटने से मौत हो गई।

शनिवार देर रात जैसे ही लिक्विड ऑक्सीजन टैंक (Liquid oxygen tank) में ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी होना शुरु हुई देखते ही देखते कोविड वार्डों में चीख-पुकार और मदद मांगने की आवाजें आनी शुरु हो गईं। आलम ये था कि, धीरे धीरे ऑक्सीजन की सेच्युरेशन घटने की वजह से एक के बाद एक 10 से अधिक कोरोना संक्रमित मरीजों (Corona infected patients) ने दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि, ऑक्सीजन की इसी कमी के चलते शनिवार के दिन भी करीब 10 मरीजों ने यहां जान गवाई थी।

यह भी पढ़ें – CM Shivraj और उद्धव सरकार के बीच ऑक्सीजन को लेकर कंसंट्रेटर वॉर शुरू

घटना के बाद मेडिकल कॉलेज प्रबंधन (Medical College Management) द्वारा की गई जांच में सामने आया कि, LOM सप्लाई बंद होने की वजह से हुए हादसे में इतने लोगों को एक साथ जान गवानी पड़ी। जानकारी ये भी सामने आई है कि, शहडोल (Shahdol) के मेडिकल कॉलेज ही आ रहे ऑक्सीजन टैंकर के दमोह के नजदीक ट्रैफिक में फसने की वजह से हुई लेटलतीफी के चलते कोविड सेंटर में ये घटना घटी है। हालांकि, इसे मेडिकल कॉलेज प्रबंधन की लापरवाही कहा जाएगा, क्योंकि उन्होंने ऑक्सीजन का भंडारण कम होने के बावजूद पहले से मरीजों के लिये व्यवस्था नहीं की थी।

फिलहाल, घटना के बाद जिला प्रशासन की टीम मामले की तफ्तीश के लिये मेडिकल कॉलेज पहुंच गई है। साथ ही, जिम्मेदारो की ओर से कहा गया है कि, रविवार की दोपहर तक मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की पूर्ति होने की संभावना है। यानी अब भी जब तक अस्पताल में ऑक्सीजन की पूर्ति नहीं होती, संक्रमित मरीजों की जान का खतरा बना रहेगा। इस लापरवाही के चलते मृतकों की संख्या का आंकड़ा और भी बढ़ सकता है।

यह भी पढ़ें – New Guideline: Indore, Bhopal समेत 51 जिलों में बढ़ाया Corona curfew

Follow 👇

लाइव अपडेट के लिए हमारे सोशल मीडिया को फॉलो करें:

यह भी पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *