स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 रीवा को मिला 93वां स्थान, 6 हजार में से 3321 अंक किए हासिल

स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 रीवा को मिला 93वां स्थान, 6 हजार में से 3321 अंक किए हासिल

रीवा । स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 का परिणाम शनिवार को घोषित हो गया। रीवा (Rewa) को देश में 93वां स्थान मिला है। बीते साल के परिणाम से संतोषजनक यह है कि स्वच्छता के मामले में राष्ट्रीय स्तर पर हम 100 शहरों के अंदर आ गए हैं। इसके साथ ही फास्ट मूविंग सिटी में शामिल हो गए हैं। स्वच्छता सर्वेक्षण-2020 में रीवा (Rewa) का देश में 116वां स्थान रहा। रीवा (Rewa) को छह हजार अंकों में से 3321.80 अंक हासिल हुए हैं।

शहर को स्वच्छता में नम्बर वन बनाने के लिए लगातार प्रयास हो रहे हैं। स्वच्छता सर्वेक्षण में बेहतर स्थान लाने के लिए पूरा जोर लगाया जा रहा है। स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 के परिणाम को लेकर सभी इंतजार में थे। शनिवार को दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में नतीजे घोषित हुए।

वर्ष 2020 के परिणाम में सुधार करते हुए 23वें नम्बर की छलांग लगाने में रीवा (Rewa) सफल रहा है। परिणाम आने के बाद कलेक्टर एवं नगर निगम प्रशासन डॉ. इलैया राजा टी, नगर निगम आयुक्त मृणाल मीणा, अधीक्षण यंत्री शैलेन्द्र शुक्ला, सहायक नोडल अधिकारी एसके चतुर्वेदी ने स्वच्छता टीम को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण-2022 में हमें और सुधार करते हुए उत्कृष्ट परिणाम लाना है।

इसे भी पढ़ें :- Aryan Khan के खिलाफ साजिश रचने के सबूत नहीं: हाईकोर्ट

नमामि गंगे अभियान को सराहा

रीव नगर निगम की नमामि गंगे अभियान को लेकर सराहना हुई है। नदियों के संरक्षण को लेकर यहां किए जा रहे कार्यों की प्रशंस करते हुए पूर्व मंत्री एवं रीवा (Rewa) विधायक राजेन्द्र शुक्ल सहित नगर निगम के अधिकारियों के प्रयास को सराहा गया।

1 लाख से ज्यादा लोगों से फीड बैंक

रीवा (Rewa) नगर निगम में श्री स्वर रेटिंग के लिए आवेदन किया था, जिसमें सफल नहीं हो पाए। स्वच्छता सर्वेक्षण के परिणाम में आम जनता की राय भी अहम होती है। रीव के 1 लाख 4 हजार लोगों के फीड बैक लिए गए थे।

2014 से यह पुरस्कार

देश में स्वच्छता सर्वेक्षण पुरस्कार की शुरूआत वर्ष 2014 में की गई। गांधी जयंती के अवसर पर 2 अक्टूबर 2014 को इसकी शुरुआत करते हुए प्रत्येक शहर को स्वच्छता में अपन उत्कृष्ट प्रदर्शन करने का अवसर दिया गया। रीव नगर निगम में सबसे पहले वर्ष 2016 में अपनी सहभागित दर्ज कराई। अब वर्ष 2022 में इस अभियान का दूसरा चरण शुरू किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें :- Rewa News: मिस्त्री ने मजदूरी मांगी तो तलवार से काट दिया हाथ, आरोपी गिरफ्तार

निर्माण कार्यो की गति से असर

जानकारों की मानें तो शहर में चल रहे निर्माण कार्यों की वजह से कहीं न कहीं रेकिंग पर असर पड़ रहा है। जैसे ही ये निर्माण कार्य पूरे होंगे, स्वच्छता की स्थिति में काफी सुधार होगा। वर्ष 2017 में रीवा (Rewa) को 38वां स्थान मिला था। तत्कालीन नगर निगम आयुक्त कर्मवीर शर्मा के प्रयासों को लोग आज भी याद करते हैं।

सफाई की ऐसी है व्यवस्था

  • नगर निगम में 600 सफाई कामगार हैं।
  • आवासीय क्षेत्र में सुबह सफाई होती है।
  • व्यवसायिक क्षेत्रों में दो बार झाड़ लगती है।
  • प्रमुख बाजारों में तीन शिफ्ट में सफाई होती है।
  • कचरा परिवहन के लिए 60 कलेक्शन वाहन है।
  • 5 टिपर एवं 5 लोडर उपलब्ध हैं।
  • शहर में तीन कचरा ट्रांसफर स्टेशन हैं।
  • पहडिया में कचरा निष्पादन प्लांट है।

इसे भी पढ़ें :- Pranati Roy Prakash कहती है, “दुनिया में समनता रखकर इस दिन के बारे में खुलकर बात करके मनाया जाना चाहिए”

बीते सालों के परिणाम

वर्षरैंक
2016398
201738
201849
201975
2020116
202193

372 शहरों में आया यह स्थान

देश के ऐसे 372 शहर जिनकी आबादी 1 लाख से 10 लाख तक हैं. उन्होंने स्वच्छत सर्वेक्षण में सहभागितात दर्ज कराई। इनमें से रीव शहर को 93वा स्थान हासिल हुआ है।

Follow 👇

लाइव अपडेट के लिए हमारे सोशल मीडिया को फॉलो करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published.