बर्फबारी ने लाहौल-स्पीति जिले का तोड़ा दर्शकों का रिकॉर्ड

Lahaul-Spiti

Lahaul-Spiti । जनजातीय जिला लाहौल-स्पाीति में इस सर्दी ने सबसे कम बर्फबारी का दशकों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। कम बर्फबारी होने से सैकड़ों साल पुराने ग्लेशियरों को इस बार कवच नहीं मिला है। इससे सूखे की आशंका बढ़ गई है। मौसम विज्ञान केंद्र के रिकॉर्ड के मुताबिक 2021 की सर्दी को दशकों बाद बर्फबारी के बगैर सबसे सूखा साल दर्ज किया गया है। इस सर्दी में अभी तक महज 96 सेमी बर्फबारी रिकॉर्ड हुई है।

MBBS डॉक्टर को किया गिरफ्तार दूसरे से दिलवा रहा था अपनी परीक्षा

लाहौल-स्पीति के पहाड़ों में करीब 250 से अधिक ग्लेशियर हैं। ये गर्मियों में पिघलकर सतलुज और चिनाब नदी को संजीवनी देते हैं। इस बार कम बर्फबारी होने से इसका सीधा असर इन दो प्रमुख नदियों के जलप्रवाह पर पड़ेगा। सीबी रेंज, पीरपंजाल और वृहद हिमालय के सैकड़ों साल पुराने ग्लेशियरों के पिघलने की रफ्तार भी तेज हो सकती है। बुजुर्ग बताते हैं कि लाहौल-स्पीति पहली बार में दशकों बाद इतनी कम बर्फबारी हुई है।

कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ रहे मामलों ने बढ़ाई चिंता, आज से फोकस टेस्टिंग

कम बर्फबारी के कारण घाटी के तापमान भी असामान्य वृद्धि दर्ज हुई है। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार इस साल जनवरी में 88 सेंटीमीटर, फरवरी में महज 6 सेंटीमीटर और मार्च में अभी तक केवल 3 सेंटीमीटर बर्फ रिकॉर्ड की गई। कम बर्फबारी होने से लाहौल-स्पीति के करीब 70 फीसदी हिस्से से मार्च में ही बर्फ की चादर गायब हो चुकी है।

85 साल से अधिक के बुजुर्ग फुंचोग, मानदास, जोगचंद और दोरजे ने कहा कि उन्होंने अपने जीवन काल में इस तरह का मौसम कभी नहीं देखा। केलांग समेत पूरी पट्टन घाटी में बर्फ पिघल गई है। आने वाले दिनों में घाटी के कई हिस्सों में पानी की भारी किल्लत रहेगी। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निरीक्षक हरी दत्त ने कहा कि कई सालों बाद हिमाचल में सबसे कम बारिश और बर्फबारी रिकॉर्ड हुई है।

यह भी पढ़ें – Prince Charles का शाही खर्चे रुकने के बाद अब कैसे कट रही है जिंदगी

लाहौल-स्पीति में साल 2006 से हुई बर्फबारी की सूची

सालबर्फबारी सेंमी में
2006342 सेंमी
2007293 सेंमी
2008235 सेंमी
2009283 सेंमी
2010193 सेंमी
2011301 सेंमी
2012231 सेंमी
2013304 सेंमी
2014281 सेंमी
2015442 सेंमी
2016172 सेंमी
2017270 सेंमी
2018362 सेंमी
2019719 सेंमी
2020280 सेंमी
202196 सेंमी मार्च 9 तक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *