Satna News: सतना-मैहर स्टेट हाइवे के अंधे मोड़ पर पेट्रोलियम टैंकर से बाइक की भिड़ंत में 3 की मौत

Satna News: सतना-मैहर स्टेट हाइवे के अंधे मोड़ पर पेट्रोलियम टैंकर से बाइक की भिड़ंत में 3 की मौत

सतना। उचेहरा थाना अंतर्गत कोरवारा मोड़ पर शुक्रवार दोपहर को पेट्रोलियम टैंकर से सीधी भिड़ंत में बाइक सवार 3 युवकों की मौके पर मौत हो गई, तो वहीं हादसे के बाद टैंकर के अगले हिस्से में आग लग गई। पुलिस ने बताया कि पथरहटा निवासी गणेश पुत्र जगदीश कोल (25) अपने रिश्तेदार सुनील पुत्र मुत्रा रावत (24) निवासी मेहर और ध्रुव पुत्र प्रकाश कोल (17) के साथ बाइक पर बैठकर दोपहर लगभग डेढ़ बजे मैहर जा रहा था।

वहां से तीनों को नागपुर के लिए निकलना था, लेकिन जैसे ही कोरवारा में अंधे मोड़ पर पहुंचे तभी मैहर की तरफ से आए टैंकर क्रमांक एमपी 20 जीए- 9044 से बाइक की जोरदार भिड़ंत हो गई, जिससे तीनों लोग उछलकर दूर जा गिरे और मौके पर ही दम तोड़ दिया, जबकि उनकी बाइक तेज रफ्तार टैंकर के नीचे फंसकर सड़क पर घिसट गई, जिससे निकली चिंगारी ने पेट्रोल के साथ आग पकड़ ली और पल झपकते ही टैंकर ट्रक का केबिन धू धूकर जलने लगा।

इसे भी पढ़ें :- Rewa News: रेलवे ट्रैक का इंटरलाकिंग कार्य पूरा अब नियमित रूप से चलेगी शटल

मैहर-सतना स्टेट हाइवे पर 24 दिन के अंदर दूसरे बड़े सड़क हादसे के बाद भी जिम्मेदारों की सेहत पर कोई फर्क नहीं है। उल्लखेनीय है, इसी राज्यमार्ग पर 24 सितंबर को रात साढ़े 10 बजे मैहर थाना क्षेत्र के जीत नगर में कार-ट्रक भिड़ंत में 41 वर्षीय मोबाइल विक्रेता सत्यप्रकाश उर्फ सतीश उपाध्याय उनकी पत्नी मेनका (38) और 8 वर्ष की बेटी ईशानी की जहां मौके पर ही मृत्यु हो गई थी, वहीं 10 वर्ष के बेटे स्नेह का यहां इलाज के दौरान निधन हो गया था। हादसा अंधे मोड़ की वजह से होने पर पुलिस- प्रशासन और एमपीआरडी के अफसरों ने स्थल निरीक्षण कर तब सड़क सुरक्षा के सवाल पर बड़ी -बड़ी बातें की थीं, लेकिन वक्त के साथ बातें आदतन हवा हो गई।

हादसे से सबक नहीं लेने का नतीजा यह है कि इसी मेहर-सतना सड़क मार्ग पर जीतनगर से महज 4 किलोमीटर की दूरी पर एक अन्य अंधे मोड़ पर शुक्रवार को वाहन ईंधन से लोड एक टैंकर नंबर एमपी 20 जीए 9044 और बाइक के बीच हुई सीधी भिड़ंत में तीन बाइक सवारों की मौत हो गई।

टैंकर के नीचे घुसकर भस्म हो गई बाइक

हादसा इतना जबर्दस्त था कि मैहर की ओर जा रही बाइक के टैंकर से टकराते हो जहां तीनों सवार दूर जा गिरे वहीं बाइक टैंकर के अंदर जाकर घुस गई। फ्यूल टेकर के फ्यूल टैंक से रगड़ खाने पर टैंकर के ड्राइवर केबिन की ओर आग लग गई। अंदर फंसी बाइक, जहां जल कर भस्म हो गई, वहीं टैंकर का अगला स भी धूधू कर जल उठा। आग को नियंत्रित करने में 45 मिनट लग गए। गनीमत थी आग टैंकर के पिछले हिस्से में नहीं फैलने पाई। कलेक्टर अनुराग वर्मा और एडीशनल एसपी सुरेन्द्र जैन भी मौके पर पहुंचे। हादसे के कारण लगभग सतना-मैहर मुख्य मार्ग लगभग डेढ़ घंटे बंद रहा। आग बुझाने में दो दमकल की मदद लो गई। उचेहरा इंडेन के कमी भी मदद के लिए आग्न शामक उपकरणों के साथ मौके पर पहुंचे। बचाव कार्य के दौरान उचहरा के एसडीएम हेमकरण धुर्वे, मैहर एसडीओपी हिमाली सोनी, नागौद एसडीओपी मोहित यादव और उचेहरा टीआई डीआर शर्मा भी मौजूद रहे।

इसे भी पढ़ें :- Satna News: 2 साल के बेटे के लिए पिता ने चांद पर खरीदी 1 एकड़ जमीन, बेटे के जन्मदिन पर भेंट करेंगे

डेढ़ घंटे ठप रहा स्टेट हाइये

हादसे और आग की सूचना ग्रामीणों के जरिए मिलने पर मैहर एसडीओपी हिमाली सोनी और टीआई विद्याधर पांडेय दमकल वाहन लेकर फौरन मौके पर पहुंच गए। लगभग 45 मिनट की जद्दोजहद के बाद फायर ब्रिगेड के दस्ते ने पानी और केमिकल का छिड़काव कर आग पर काबू पा लिया। अंततः क्रेन बुलाकर टैंकर को घटना स्थल से हटाकर उचेहरा थाने भेजा गया, तब जाकर दोपहर 3 बजे यातायात बहाल हुआ। इस घटना में टैंकर का केबिन और बाइक पूरी तरह खाक हो गई थी। आग बुझाने के बाद मृतकों के शव मरचुरी भेजे गए, जहां

ड्यूटी डॉक्टर ने तीनों का पोस्टमार्टम किया। खाली कराए गए घर टैंकर में आग लगने से कोरवारा बस स्टैंड में हडकंप मच गया था। धमाके की आशंका पर •पुलिस ने दुकानदारों को हटाने के साथ ही लगभग 500 मीटर के दायरे में बने घरों से लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थान पर भेज दिया था। गनीमत रही कि आग पर समय रहते काबू पा लिया गया, जिससे और जनधन की हानि नहीं हुई और स्थानीय लोगों ने राहत की सांस ली।

परिजनों से मिले प्रभारी मंत्री

इसी बीच प्रभारी मंत्री डा. कुंवर विजय शाह ने कोराबारा में भीषण सड़क हादसे में मृत बाइक सवारों के परिजनों से भेंट कर उन्हें सांत्वना दी। उन्होंने आर्थिक सहायता दिए जाने के भी निर्देश दिए। प्रभारी मंत्री मैहर-उचेहरा मार्ग पर कोरवारा मोड़ पहुंचकर घटना स्थल का निरीक्षण किया। सड़क और संबंधित विभाग के अधिकारियों से चर्चा कर दुर्घटना के कारणों को जानकारी ली। प्रभारी मंत्री ने लोक निर्माण विभाग और संबंधित अधिकारियों को सड़क सुधार और ऐसे हादसे नहीं हो उसे रोकने के संबंध में आवश्यक उपाय करने के निर्देश दिए।

इसे भी पढ़ें :- कैटरीना कैफ की बहनों ने निभाई भाई की रस्म, दिल खोलकर लुटाया प्यार

5 दिन पहले हुई थी सुनील की शादी

उचेहरा थाना क्षेत्र के कोरवारा के अंधे मेड़ पर दोपहर डेढ़ बजे फ्यूल टैंकर और बाइक के बीच हुई भीषण भिड़ंत में मृत युवकों की पहचन सुनील स्वत पिता मुला (24) निवासी निवासी मेहर गणेश कोल पिता जगदीश (25) निवासी पथरहटा उचेहरा और ध्रुव पिता प्रकाश कोल (17) निवासी नागपुर (महाराष्ट्र ) के रूप में हुई है। पुलिस ने बताया कि मृतकों में शामिल युवक सुनील रावत की शादी महज 5 दिन पहले यानि 12 दिसंबर को हुई थी। तीनों मृतक आपस में रिश्तेदार थे और अपने रिश्तेदार गणेश के घर पथरहटा आए हुए थे।

क्यों आती है ऐसी नौबत

मैहर सतना के बीच 38 किलोमीटर की टू लेन रोड की चौड़ाई साढ़े 5 मीटर है। अति व्यस्ततम यह स्टेट हड़ये सर्पीला है। दोनों ओर साइड शोल्डर नहीं हैं। ऐसी में रम्बल स्ट्रिप की उम्मीद तो दूर ग्लो सङ्घन बोर्ड तक नहीं है। लगभग साल सतना-उमरिया के बीच बीओटी से यह रोड बनाई गई थी। मेंटीनेंस और सुरक्षा प्रबंधों को जिम्मा तिरुपति बिल्डिकॉन कंपनी लिमिटेड (टीबोसीएल) की है। सतना से उमरिया के बीच 133 किलोमीटर पर टीबीसीएल को यह काम ओएमटी पर 5 साल के लिए वर्ष 2017 में मिला था।

Follow 👇

लाइव अपडेट के लिए हमारे सोशल मीडिया को फॉलो करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *