Rewa News: Rewa इंजीनियरिंग कॉलेज को भी IIT और NIT की तरह दर्जा, NBA ने दी मान्यता

Rewa News: Rewa इंजीनियरिंग कॉलेज को भी IIT और NIT की तरह दर्जा, NBA ने दी मान्यता

रीवा। रीवा (Rewa) के शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज (Government Engineering College, Rewa) का स्टैंडर्ड बढ़ गया है. उसे नेशनल बोर्ड ऑफ एक्रीडिटेशन (National Board of Accreditation) ने IIT-NIT जैसे संस्थानों के तौर पर मान्यता दे हैं. कॉलेज का दर्जा बढ़ने से पूरे विंध्य इलाके सहित अन्य स्टूडेंट्स को इसका फायदा मिलेदा. बताया जा रहा है कि अब एनबीए (NBA) की मान्यता के बाद कॉलेज में पीजी कोर्स शुरू करने में आसानी होगी. महाविद्यालय को तमाम सुविधाएं मुहैया कराई जा सकती हैं.

रीवा के सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज का लंबा इंतजार खत्म हुआ. लंबे अंतराल के बाद इसे नेशनल बोर्ड आफ एक्रीडिटेशन एनबीए ग्रेडिंग में शामिल किया गया है. ये कॉलेज 57 साल पुराना है. यह पहला मौका है जब एनबीए की ग्रेडिंग में इसे शामिल किया गया है. कॉलेज प्रशासन काफी समय से इसका प्रयास कर रहा था लेकिन कॉलेज में इंफ्रास्ट्रक्चर की कमी के कारण NBA अब तक इसे मान्यता नहीं दे रहा था.

इसे भी पढ़ें :- शाहरुख खान के बेटे Aryan Khan को कोर्ट ने 7 अक्टूबर तक एनसीबी की कस्टडी में भेज

अब राष्ट्रीय स्तर का होगा रीवा इंजीनियरिंग कॉलेज (Government Engineering College, Rewa)

NBA के मान्यता देने के बाद अब रीवा इंजीनियर कॉलेज से पास होने वाले छात्रों की डिग्री में एनबीए ग्रेडिंग मेंशन किया जाएगा. यह माना जाएगा कि यह संस्थान राष्ट्रीय स्तर की शिक्षा देने वाले संस्थानों में शामिल है. एनबीए ग्रेडिंग होने के बाद कॉलेज को कई तरह से फायदे होंगे. अब कॉलेज के विस्तार के लिए केंद्र से इसे राष्ट्रीय स्तर के संस्थान की तरह अनुदान मिल जाएगा. साथ ही कॉलेज में पीजी डिग्री कोर्स भी शुरू किए जा सकेंगे. साथ में शोध कार्य भी होंगे. आईआईटी, एनआईटी जैसे संस्थानों में अब रीवा इंजीनियरिंग कॉलेज की भी गिनती होगी.

इसे भी पढ़ें :- MP News: कृष्णपाल ने IPL के मैचों में 50 रुपये लगाकर जीते 1 करोड़ 20 लाख रुपये

NBA की टीम ने स्टूडेंट्स से की थी बात

NBA की टीम ने अगस्त में रीवा इंजीनियरिंग कॉलेज (Rewa Engineering College) का दौरा कर यहां का इंफ्रा स्ट्रक्चर देखा था. उसने स्टाफ औऱ स्टूडेंट्स की संख्या, क्लास रूम में मिलने वाली सुविधाएं, हॉस्टल, लाइब्रेरी, स्पोर्टस सहित अन्य व्यवस्थाओं को देखा था. टीम ने स्टूडेंट्स से भी पूछा था कि वह अपने कॉलेज में कौन सी सुविधाएं औऱ व्यवस्था चाहते हैं और पहले यहां कैसी व्यवस्था थी. यह इसलिए पूछा गया कि कहीं ऐसा तो नहीं कि कॉलेज प्रशासन ने NBA के दौरे को देखते हुए अस्थायी तौर पर ये व्यवस्था की हों. दौरे और स्टूडेंट्स से बात के बाद जब टीम पूरी तरह संतुष्ट हुई, तब उसने IIT-NIT जैसे संस्थानों के तौर पर रीवा कॉलेज को मान्यता देने की सिफारिश की. अब कॉलेज को NBA ने मान्यता दे दी है.

इसे भी पढ़ें :- Jobs Vacancy: हाई स्कूल टीचर्स के लिए 6000 से अधिक जॉब वैकेंसी, जल्दी करें अप्लाई

सालो से अटका था मामला

कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य डॉ संदीप पांडे ने बताया कि NBA ग्रेडिंग के लिए इंजीनियरिंग कॉलेज प्रबंधन ने 3 साल पहले ही आवेदन कर दिया था. उसके बाद कोरोना के कारण कॉलेज बंद था. इसलिए काम आगे नहीं बढ़ पाया. अनलॉक होते ही कॉलेज प्रशासन ने फिर कार्रवाई शुरू की और तब टीम यहां आ पायी.

Follow 👇

लाइव अपडेट के लिए हमारे सोशल मीडिया को फॉलो करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published.