MP Weather Update: MP के कई इलाको में भारी बारिश का अलर्ट, 24 घंटों में इन जिलों में हो सकती है बारिश

Mp Weather Update: मौसम विभाग ने Madhya Pradesh के कई जिलों रेड अलर्ट और ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है

भोपाल। मध्य प्रदेश का मौसम (MP Weather) अगले 48 घंटे में बदलने वाला है। बंगाल की खाड़ी में बन रहे चक्रवात के 17 अगस्त को कम दबाव के क्षेत्र में तब्दील होकर आगे बढ़ने की संभावना है, इससे 18 अगस्त के बाद राजधानी सहित जबलपुर, होशंगाबाद, इंदौर संभागों के जिलों में बारिश का दौर शुरू होने की संभावना है।वही 19 के बाद इंदौर सहित प्रदेश भर में मानसून की गतिविधियों में तेजी आएगी और फिर झमाझम बारिश होगी। एमपी मौसम विभाग (MP Meteorological Departmentt) ने आज मंगलवार को सभी संभागों में कहीं कहीं बौछारें (Rain) और 12 जिलों में भारी बारिश की संभावना जताई है।

इसे भी पढ़ें :-मशहूर पंजाबी Actress Sidhika Sharma का म्यूजिक वीडियो ‘मेरी मोहब्बत’ रिलीज हो गया है ओमकार शर्मा के साथ

मौसम विभाग (MP Weather Update) के अनुसार, आज मंगलवार को सभी उज्जैन (Ujjain), भोपाल (Bhopal), शहडोल (Shahdol), जबलपुर (Jabalpur), इंदौर (Indore), होशंगाबाद (Hoshangabad), ग्वालियर-चंबल (Gwalior-Chambal), सागर (Sagar) और रीवा (Rewa) संभागों में कहीं कहीं बारिश की संभावना है। वही इंदौर-जबलपुर संभाग (Indore-Jabalpur Division) में गरज-चमक के साथ बारिश होगी। भोपाल (Bhopal), ग्वालियर (Gwalior) और सागर (Sagar) समेत 10 जिलों में हल्की बूंदाबांदी होगी। 19 अगस्त के बाद इंदौर (Indore), भोपाल (Bhopal) में भी अच्छी बारिश की संभावना है। इस बार 1 जून से लेकर 17 अगस्त तक सामान्य से 1 फ़ीसदी बारिश ज्यादा हुई है प्रदेश भर में 1 जून से 13 अगस्त तक सामान्य से 6 फीसदी ज्यादा बारिश हुई है, वही 26 जिले ऐसे हैं, जहां अभी भी सामान्य से कम बारिश हुई है।वही 30 जिले ऐसे है, जिन्हें अब भी अच्छी बारिश का इंतजार है।

इसे भी पढ़ें :- भोपाल : गिन्नौरी संकट हरण महादेव मंदिर में भक्तों ने 15 लाख रुपये के नोटों से महादेव का श्रृंगार किया

मौसम विभाग (MP Weather Cloud) का पूर्वानुमान है कि वर्तमान में पश्चिमोत्तर बंगाल की खाड़ी में निम्न दाब क्षेत्र (Low Pressure area) समुद्र तल से 7.6 किमी की ऊँचाई तक फैले हुए संयुग्मित चक्रवातीय परिसंचरण के साथ सक्रिय है। मॉनसून ट्रफ (Monsoon Trough) का पश्चिमी भाग हिमालय की तलहटी क्षेत्रों में और पूर्वी भाग हरदोई, गया, जमशेदपुर से होते हुए निम्न दाब क्षेत्र तक विस्तृत है। वहीं पश्चिमी विक्षोभ (WD) ऊपरी क्षोभमंडल की पछुवा पवनों के बीच एक ट्रफ के रूप 66 डिग्री पूर्व देशांतर के सहारे 28 डिग्री उत्तर अक्षांश के उत्तर में अवस्थित है।

इसे भी पढ़ें :- UNSC में Afghanistan पर चर्चा, Pakistan को एंट्री न मिलने पर बौखलाया China

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में 1 जून से 13 अगस्त तक सामान्य बारिश से 6% यानी अब तक करीब 25 इंच पानी बरस चुका है, हालांकि वर्तमान में मालवा-निमाड़ और बुंदेलखंड के पन्ना-दमोह जिलों में 50% से कम बारिश (Rain) हुई है।13 जिले धार, खरगोन, बड़वानी, बुरहानपुर, इंदौर, खंडवा, हरदा, पन्ना, दमोह, कटनी, जबलपुर, सिवनी और बालाघाट में अब भी रेड जोन में हैं।इसके अलावा श्योपुर, शिवपुरी, गुना, अशोकनगर, विदिशा, रायसेन, राजगढ़, आगर-मालवा, शाजापुर, उज्जैन, मंदसौर, भिंड, रीवा, सीधी और सिंगरौली में सामान्य से अधिक बारिश हुई है।भोपाल-होशंगाबाद और सागर में अभी तक सामान्य बारिश हुई है, जिसके कारण यह इलाके ग्रीन जोन में हैं।

Follow 👇

लाइव अपडेट के लिए हमारे सोशल मीडिया को फॉलो करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published.