भोपाल : गिन्नौरी संकट हरण महादेव मंदिर में भक्तों ने 15 लाख रुपये के नोटों से महादेव का श्रृंगार किया

भोपाल : गिन्नौरी संकट हरण महादेव मंदिर में भक्तों ने 15 लाख रुपये के नोटों से महादेव का श्रृंगार किया

भोपाल। सावन (Sawan 2021) के महीने में महादेव को खुश करने के लिए श्रद्धालु तरह-तरह के जतन कर रहे हैं. इस दौरान राजधानी भोपाल में महादेव (Mahadev) को खुश करने के लिए सजावट की अनूठी तस्वीरें सामने आई हैं. भक्तों ने महादेव के श्रृंगार (Makeup) में 15 लाख रुपये के नोटों का चढ़ावा दिया है.

यही नहीं, महादेव का 50, 100, 200, 500 और 2000 रुपये के नोट एकत्रित कर श्रृंगार किया गया. राठौर संघ की कमेटी ने 15 लाख रुपये के नोट जुटाकर भगवान महादेव को चढ़ाए हैं. यह तस्वीरें राजधानी भोपाल के गिन्नौरी संकट हरण महादेव मंदिर की हैं, जहां भक्तों ने नोटों से महादेव का श्रृंगार किया.

राठौर संघ के अध्यक्ष मुकेश राठौर ने बताया कि 30 लोगों ने मिलकर इतनी राशि को जुटाया है. किसी ने 25 तो किसी ने 35 और किसी ने 50000 रुपये से ज्यादा की राशि दी है.

महादेव के अनूठे श्रृंगार के लिए 4 से 5 घंटे का समय लगा. जबकि सेवा कमेटी का कहना है कि महादेव को चढ़ाई गई 15 लाख की राशि सेवा कार्यों पर खर्च की जाएंगी. इस दौरान राधा कृष्ण की रासलीला के कार्यक्रम भी आयोजित किए गए जिसमें बड़ी संख्या में युवाओं ने हिस्सा लिया.

इसे भी पढ़ें :- UNSC में Afghanistan पर चर्चा, Pakistan को एंट्री न मिलने पर बौखलाया China

दरअसल सावन के आखिरी सोमवार पर शिव मंदिरों में विशेष पूजन कार्यक्रम आयोजित हुए, लेकिन शिव मंदिरों में खास सजावट की गई थी. वहीं, भगवान भोले को खुश करने के लिए भक्तों ने तरह-तरह के तरीके भी अपनाए और उन्हीं में से एक अनूठा तक तरीका भोपाल के संकट हरण महादेव मंदिर से निकल कर सामने आया है, जिसमें अलग-अलग कतारों में नोटों को रख महादेव का श्रृंगार किया गया.

मंदिर प्रबंधन ने एक कतार में 100, तो दूसरी कतार में 500 और एक अलग कतार में 2000 के नोट रखे. इन नोटों को इस तरीके से सजाया गया था कि महादेव के साथ एक अनोखी तस्वीर निकल कर सामने आ रही थी. इसे खूबसूरत तो कहा ही जा सकता है, लेकिन आस्था यह अनूठा तरीका है, जिसमें भक्तों ने भोले का नोटों से श्रृंगार किया है.

Follow 👇

लाइव अपडेट के लिए हमारे सोशल मीडिया को फॉलो करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published.