छत्तीसगढ़ में इंग्लिश टीचर बनने के लिए Mahendra Singh Dhoni ने भेजा एप्लीकेशन

रायपुर। छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में एक आवेदन ने शिक्षा विभाग सहित प्रशासन के अधिकारियों की नींद उड़ा दी है. आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल के लिए आए आवेदन में महेन्द्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) पिता सचिन तेन्दुलकर (Sachin Tendulkar) ने ऑनलाइन आवेदन किया है. जिसका अंक 98 प्रतिशत है. विभाग ने चयन सूचि में नाम शॉर्टलिस्ट कर दिया. सूचि जारी होते ही अब विभाग की किरकिरी हो रही है. पूरे प्रदेश भर में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई के लिए जिले में मॉडल स्कूल तैयार किया गया है. इन स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई होनी है.

रायगढ़ में भी अंग्रेजी विषय के शिक्षकों की भर्ती के लिए आवेदन मंगाया गया था. ऑनलाइन आवेदन में रायपुर के एक अभ्यार्थी ने शिक्षक बनने आवेदन किया. आवेदक ने अपना नाम महेन्द्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) पिता सचिन तेन्दुलकर (Sachin Tendulkar) बताया है. वहीं 98 फिसदी अंक होनें की वजह से उसे विभाग ने इंटरव्यू के लिए सूचि में नाम भी शामिल कर लिया. अभ्यार्थी द्वारा अपने आवेदन में दिए गए विवरण में बताया है कि उसने सीएसवीटीयू, दुर्ग से स्नातक किया है. अंक प्रतिशत अच्छे होनें की वजह से आवेदन को विभाग ने नजर अंदाज नहीं किया.

इसे भी पढ़ें :- बक्सवाहा हीरा खदान के लिए एक भी पेड़ नहीं कटेगा, NGT ने क्या दिया आदेश

Mahendra Singh Dhoni का नाम

विभाग ने जो सूचि तैयार की है, उसमें पहले नम्बर पर महेन्द्र सिंह धोनी का नाम है. साक्षातकार के लिए जब उसे बुलाया गया तो महेन्द्र सिंह धोनी नहीं आया. जिसके बाद चयन समिति व विभाग के अधिकारियों को कुछ खटका. विभाग खुद सोच रहा है कि चूक कैसे हो गई. वहीं विभाग का तर्क है कि कटऑफ मार्क के हिसाब से आवेदक को सूचि बद्ध किया गया है. आवेदक का आवेदन भले ही अजीब है पर आवेदन को इंकार नहीं किया जा सका।

इसे भी पढ़ें :- LIC ने लॉन्च किया शानदार प्लान, एक बार प्रीमियम भरे और पाये जिंदगी भर पाएं 12000 रुपए, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

FIR की तैयारी

सचिन तेन्दुलकर को क्रिकेट का भगवान माना जाता है. महेन्द्र सिंह धोनी विश्व के ऐसे क्रिकेट खिलाड़ी है जिनके चाहने वालों की संख्या असंख्य है. ऐसे खिलाड़ियों के नाम का इस तरह इस्तमाल करने से सचिन तेन्दुलकर और महेन्द्र सिंह धोनी के प्रसंशक नाराज हैं. बहरहाल विभाग की किरकिरी होनें के बाद अब आवेदक पर एफआईआर दर्ज करानें की तैयारी की जा रही है. आवेदक से संपर्क साधने का प्रयास किया जा रहा है. सूचि में दिए गए मोबाइल नम्बर लगतार बंद आ रहा है. आवेदक ने आवेदन में रायपुर का निवासी बताया है.

Follow 👇

लाइव अपडेट के लिए हमारे सोशल मीडिया को फॉलो करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *