Covid-19: Ministry of Health ने दिया सबूत, 18 राज्यों में मिले कोविड-19 का डबल म्यूटेंट वैरिएंट

mp news now

नई दिल्ली। भारत (India) में कोरोना वायरस (Coronavirus) एक बार फिर तेजी से फैलने लगा है। देश में बीते 24 घंटे में 47,262 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। इसके साथ यहां कुल संक्रमित लोगों की संख्या 1 करोड़ 17 लाख से अधिक हो चुकी है। इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी चौंकाने बात कही है।

स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health) के अनुसार देश के 18 राज्यों में कोविड-19 (Covid-19) का एक नया ‘डबल म्यूटेंट’ (Double mutants) वैरिएंट सामने आया है। हालांकि मंत्रालय का कहना है कि अभी तक के आंकड़ों से स्पष्ट नहीं हुआ है कि देश में कोरोना वायरस के बढ़ रहे संक्रमण और वायरस के नए वैरिएंट के बीच कोई संबंध है।

यह भी पढ़ें – Breaking News: महाराष्ट्र के बीड जिले में 26 मार्च से 4 अप्रैल तक लॉकडाउन

रिपोर्ट्स के अनुसार कोरोना का यह नया वैरिएंट कई अन्य देशों में भी मिल रहा है। गौरतलब है कि बीते कुछ समय से भारत सहित दुनियाभर में संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, कोरोना के नए वैरिएंट के अभी तक पर्याप्त मामले सामने नहीं आए हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि यह वैरिएंट शरीर के इम्यून सिस्टम यानी प्रतिरक्षा तंत्र से बचकर संक्रमण को बढ़ाता है।

कोरोना वायरस (Coronavirus) का नया म्यूटेशन करीब 15 से 20 फीसदी नमूनों में मिला है। यह चिंता का विषय है कि यह पहले वाले वैरिएंट से मेल नहीं खाता है। महाराष्ट्र (Maharashtra) से मिले नमूनों के विश्लेषण से ये बात सामने आई है कि दिसंबर 2020 की तुलना में कोरोना वायरस के नमूनों में ई484क्यू और एल452आर म्यूटेशन के अंश मिले हैं। अभी तक इस वैरिएंट से संक्रमित लोगों की संख्या 10 बताई गई है।

यह भी पढ़ें – Corona Case को बढ़ते देखते हुए केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को लिखी चिट्‍ठी

गृह मंत्रालय ने बीते मंगलवार को कोरोना से लड़ने के लिए नई गाइडलाइन तैयार की थी। ये एक अप्रैल से 30 अप्रैल तक लागू रहेंगे। इस दिशा-निर्देश में देश के कई हिस्सों में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए केंद्रशासित प्रदेशों को जांच, निगरानी और उपचार की प्रक्रिया को सख्ती से लागू का अधिकार दिया गया है।

Follow 👇

लाइव अपडेट के लिए हमारे सोशल मीडिया को फॉलो करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *