सोने-चांदी के कारोबारी से करोड़ों रुपये लूट मुम्बई जाते एमपी में पकड़े गये लुटेरे

सोने-चांदी के कारोबारी से करोड़ों रुपये लूट मुम्बई जाते एमपी में पकड़े गये लुटेरे

31 जनवरी को सिवनी-नागपुर हाइवे पर कार से हवा में लहराते सडक़ पर फैले मिले जले नोट लूट के थे। कुरई पुलिस ने कार सवार तीन आरोपियों व 1.74 करोड़ रुपए से अधिक राशि के साथ उनको गिरफ्तार किया था। आरोपियों ने पहले पुलिस को बरगलाया फिर तीसरे दिन राज उगला।

मुख्य आरोपी हरिओम यादव ने अपने सगे भाई हरिनाथ यादव के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश के कौशाम्बी जिले के सोने-चांदी के कारोबारी दशरथ सेठ के रुपए को लूटकर उसे खपाने मुंबई जा रहा
था। इसबीच कुरई में पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

यह भी पढ़ें – CBSE Exam: 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं की तारीखें घोषित, पढ़िए पूरी शेड्यूल

कुरई पुलिस की बातों पर गौर करें तो उत्तर प्रदेश के कौशाम्बी जिले में सोने-चांदी के कारोबारी दशरथ सेठ के यहां हरिनाथ यादव काम करता था। वह प्राय: सेठ के सोने-चांदी की खरीदारी करने करोड़ों रुपए लेकर मुंबई और दिल्ली जाता था। हरिओम व हरिनाथ ने बीते कुछ वर्षों में मुंबई में मकान खरीदने के साथ कर्ज ले लिए थे, जिसे पटा नहीं पा रहे थे। इसबीच दोनों भाइयों ने मिलकर सेठ के पैसे को लूटने की योजना बनाई। हरिनाथ सेठ के पैसे को एक कार से लेकर मुंबई के लिए निकला तो उसका भाई हरिओम अपने साथियों के साथ पहुंचा और उसकी पिटाई करने के बाद उसे रस्सी से बांध दिया और उसके पास के पैसे लूटकर फरार हो गया।

यह भी पढ़ें – मौसम अपडेट : UP में मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट, भारी बारिश संभावना

इस मामले में हरिनाथ के बयान और दशरथ सेठ के शिकायत पर कौशाम्बी में लूट का प्रकरण कायम कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी गई है। इसबीच भाई के साथ मिलकर लूटे गए पैसे को लेकर आरोपी हरिओम साथियों के साथ मुंबई के लिए निकल गया। वह सिवनी पहुंचा था कि उसके कार के बोनट में छिपाकर रखे गए पैसे शार्ट सर्किट से जलकर हवा में लहराकर सडक़ पर फैलने लगे। इसकी सूचना ग्रामीणों ने पुलिस को दी। पुलिस ने आरोपियों को कुरई में गिरफ्तार कर लिया।

यह भी पढ़ें – महाराष्ट्र: 12 बच्चों को पोलियो ड्रॉप के जगह पिलाया सैनिटाइजर, बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराया गया

आरोपियों ने पहले पुलिस को सोने-चांदी के कारोबारी होने की बात कहकर बरगलाया फिर सच्चाई उगली। कुरई टीआई मनोज गुप्ता ने इस मामले में कौशाम्बी जिले में संपर्क किया है, वहां से लूट की पुष्टि हो चुकी है। टीआई गुप्ता ने आरोपियों के खिलाफ संबंधित धाराओं में मामला पंजीबद्ध कर लिया है। सभी को मंगलवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा। उत्तर प्रदेश की पुलिस आरोपियों को सुपुदर्गी में लेने के लिए न्यायालयीन कार्रवाई शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें – Madhya Pradesh में हजारो कोरोना वैक्सीन हुई ख़राब, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

आरोपियों ने कितने पैसे लूटे किसी को नहीं मालूम
सोने-चांदी के कारोबारी के बाद लूट के आरोपी निकले कुरई पुलिस के हत्थे चढ़े आरोपियों के पास कितने पैसे थे। यह किसी को नहीं मालूम है। उत्तर प्रदेश के कौशाम्बी में सेठ ने 40 लाख रुपए लूटे जाने की शिकायत की है। जिस कार से पैसे सेठ का कर्मचारी और मुख्य आरोपी का भाई हरिओम निकला था। उसमें भी 20 लाख रुपए कौशाम्बी पुलिस को मिले हैं।

यह भी पढ़ें – MP: 7500 करोड़ की लागत की मेट्रो जल्द ही दौड़ेगी, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

कुरई पुलिस का दांवा है कि 1.75 करोड़ रुपए, आशिंक जले 1.87 लाख रुपए और अधिक मात्रा में जले 500 रुपए के 81 नोट जब्त किए गए हैं। ऐसे में आरोपियों ने कितने पैसों की लूट की? लूटे गए पैसों को कहीं अन्य जगह तो नहीं खपाया है? आदि दर्जनों सवाल ऐसे हैं, जिनका जवाब कोई नहीं दे पा रहा है। पुलिस का कहना है कि आरोपियों के पास कोई मोबाइल नहीं है। ऐसे में वह किस-किस जगह से होकर आए हैं। इसकी जानकारी नहीं मिल पा रही है। अब टोल नाका से सीसीटीवी फुटेज निकलवाकर वे लोग कब किस जगह से निकले और कहां-कहां रूके हैं। इसकी जानकारी इकट्ठा की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.