719 MNN

फर्जी CBI अफसर बन लोगों को दे रहा था धोखा, खुद को ऑफिसर बताकर की थी शादी, पत्नी ने थाने में दर्ज कराई FIR के बाद गिरफ्तार

719 MNN

नई दिल्ली। दिल्‍ली (Delhi) में रविवार को पश्चिम बंगाल (West Bengal) के हावड़ा का रहने वाला एक व्‍यक्ति पकड़ा गया है. वह खुद को सीबीआई ऑफिसर (CBI Officer) बताता था और लोगों को सरकारी नौकरी दिलवाने के नाम पर ठगता था. उसके खिलाफ उसकी पूर्व पत्‍नी ने ही केस दर्ज कराया था.

WhatsApp & Telegram Group Join Buttons
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

पत्‍नी ने की FIR

इस फर्जी सीबीआई ऑफिसर का नाम सुबोदिप बनर्जी है. उसकी पत्‍नी ने उसके खिलाफ हावड़ा के जगाचा पुलिस स्‍टेशन में 13 मई को एफआईआर दर्ज कराई थी. इसके बाद से वह फरार चल रहा था. आखिरकार पुलिस ने दिल्‍ली के एक फाइव स्‍टार होटल में छापा मारकार उसे रविवार को गिरफ्तार कर लिया. यह कार्रवाई जगाचा पुलिस की टीम ने की.

इसे भी पढ़ें :- MP News: पति ने पत्नी को बेच, पत्नी नहीं गई तो कुएं में फेंक दिया

दिल्‍ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने आरोपी को तीन दिन की ट्रांजिट रिमांड पर भेज दिया है. पुलिस ने बताया कि उसे अब हावड़ा ले जाया जाएगा और फिर उसे यहां कोर्ट में पेश किया जाएगा. उस पर आरोप है कि उसने शादी से पहले अपनी होने वाली पत्‍नी को अपने बारे में गलत जानकारी दी थी. उसने होने वाली पत्‍नी को बताया था कि वह सीबीआई में असिस्‍टेंट डायरेक्‍टर है.

खुद को सीबीआई अधिकारी बताकर की थी शादी

WhatsApp & Telegram Group Join Buttons
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

शुभदीप की पत्नी नयना बनर्जी का आरोप है कि शुभदीप ने डेढ़ साल पहले फर्जी सीबीआई अफसर के तौर पर उससे शादी की थी. तब भी उन्हें शुभदीप की असली पहचान की जानकारी नहीं थी. लेकिन, कुछ समय बाद नयना ने शुभदीप को काम पर जाते हुए नहीं देखा, तो उसे शक होने लगा. उसके बाद नयना ने शुभदीप के कागजात की तलाश करनी शुरू कर दी. वह गुप्त रूप से विभिन्न सरकारी कार्यालयों में गई और अधिकारियों से पूछताछ की. तो उसे पता चला कि शुभदीप बंद्योपाध्याय नाम का कोई अधिकारी नहीं है. नयना करीब चार महीने से शुभदीप के खिलाफ विभिन्न जगहों से सबूत जुटा रही थी. शुभदीप नौकरी देने के नाम पर कई लोगों के साथ ठगी करता था.

इसे भी पढ़ें :- Hrithik Roshan and Saif Ali Khan साउथ की सुपरहिट फिल्म VikramVedha के हिंदी रीमेक में काम करने वाले हैं

नीली बत्ती लगी गाड़ी में घूमता था आरोपी

इस बारे में उसने अपने पति से भी पूछताछ की, तो कथित तौर पर शुभदीप ने यह स्वीकार नहीं किया. इसे लेकर पति-पत्नी में बहस होने लगी. नयना ने आरोप लगाया कि शुभदीप नीले बत्ती वाहन में इलाके में घूमता था. उसने धोखा देने के तुरंत बाद ही अपने पति से तलाक के लिए अर्जी दे दी. उसने अपने पति के खिलाफ जगछा थाने में लिखित शिकायत भी दर्ज कराई है. नयना के पति ने आरोप लगाया कि शुभदीप के माता-पिता ने कहा कि शुभदीप कम उम्र से ही काफी पढ़ा लिखा था. बाद में विदेश पढ़ने चला गया था. वहां से उसने अपने माता-पिता को बताया कि वह सीबीआई अधिकारी बन गया है. उनके माता-पिता जानते हैं कि लड़का सीबीआई अधिकारी है.

आरोपी के पिता ने पत्नी की शिकायत पर किया सवाल

दूसरी ओर, शुभदीप की मां ने नयना पर आरोप लगाते हुए कहा, “हम इतने लंबे समय से जानते हैं कि लड़का सीबीआई अधिकारी है. नीली बत्ती वाली कार में जाता है. नयना ने हमसे 9 लाख रुपये लिए. यहां तक ​​कि सारे जेवर भी ले चुकी है. सब कुछ लेने के बाद शिकायत क्यों कर रही है?” लगभग यही बात शुभदीप के पिता ने कही. हालांकि, बंद्योपाध्याय दंपति का कहना है कि यदि लड़के ने अन्याय किया तो उसे सजा मिलनी चाहिए. जगछा पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है.

इसे भी पढ़ें :- Twitter ने विनय प्रकाश को बनाया शिकायत अधिकारी, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

पुलिस ने दी जानकारी

पुलिस ने बताया कि बाद में उसकी पत्‍नी को उस पर शक हुआ. उसने पत्‍नी को फर्जी आईडी कार्ड भी दिखाकर मनाने की कोशिश की. पत्‍नी ने उसके दावे का सच जानने के लिए सीबीआई ऑफिस में उसके दस्‍तावेज के साथ जाकर पूछताछ की. वहां उसे पता चला कि यह फर्जी है. इसके बाद उसकी शादी टूट गई. दोनों में मार्च में तलाक हो गया. 13 मई को महिला ने एफआईआर दर्ज कराई थी.

पुलिस अफसर ने बताया कि आरोपी लॉकडाउन का फायदा उठाकर लोगों को ठग रहा था. वह लोगों को नौकरी का झांसा देकर रकम ऐंठता था. कुछ सूत्रों का कहना है कि आरोपी सीबीआई अफसर बनकर लोगों का ऑनलाइन इंटरव्‍यू भी लेता था. वह लोगों से ऑनलाइन रुपये भी लेता था.

इसे भी पढ़ें :- तालिबान का खतरा बढ़ता जा रहा है अफगानिस्तान में, भारत ने वापस बुलाया पूरा स्टाफ

Follow 👇

लाइव अपडेट के लिए हमारे सोशल मीडिया को फॉलो करें:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *