Central government ने 20 सरकारी ITI का चयन किया, मिलेंगी ये सुविधाएं

Central government ने 20 सरकारी ITI का चयन किया, मिलेगी ये सुविधाएं

भोपाल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) की सरकारी आईटीआई (ITI) के लिए अक अच्छी खबर है। दरअसल, भारत सरकार (Indian government) की स्किल स्ट्रेंथनिंग फॉर इंडस्ट्रियल वैल्यू एन्हांसमेंट (Skills Strengthening for Industrial Value Enhancement) (STRIVE) (स्ट्राइव योजना) योजना के तहत प्रदेश के 20 शासकीय आईटीआई का चयन किया गया है। हालांकि पहले चरण में 8 आईटीआई को स्थान मिलेगा।

यह भी पढ़ें – प्रियंका गांधी पहुंचीं रामपुर, ट्रैक्टर रैली हादसे के शिकार हुए नवरीत के घर जाएंगी

ITI का चयन

योजना के पहले चरण में 8 शासकीय आईटीआई मण्डीदीप, खरगौन (Khargone), उमरिया (Umaria), रतलाम (Ratlam), बालाघाट (Balaghat), सिंगरौली (Singrauli), छिंदवाडा (Chhindwara) और एकलव्य महिला आईटीआई बैतूल (Betul) शामिल हैं। स्ट्राइव योजना के दूसरे चरण में 12 शासकीय आईटीआई शिवपुरी (Shivpuri), देवास (Dewas), शाजापुर (Shajapur), सिवनी (Seoni), कटनी (Katni), टीकमगढ़ (Tikamgarh), छपारा (सिवनी जिला) (Chhapara (Seoni District)), हरदा (Harda), छतरपुर (Chhatarpur), अनूपपुर (Anuppur), झाबुआ (Jhabua) और आईटीआई खंडवा (Khandwa) का चयन हुआ है।

यह भी पढ़ें – रसोई गैस सिलेंडर 25 रुपए महंगा हुआ, देखिये अपने शहर का दाम

स्ट्राइव योजना

दरअसल, स्किल स्ट्रेन्थिनिंग फॉर इण्डस्ट्रियल वेल्यू एन्हेंसमेंट (Skills Strengthening for Industrial Value Enhancement) (STRIVE) का उददेश्य आईटीआई (ITI) और अप्रेंटिसशिप (Apprenticeship) के माध्यम से प्रदान किए जाने वाले कौशल प्रशिक्षण की प्रासंगिकता और दक्षता में सुधार करना है। स्ट्राइव के अन्तर्गत प्रदेश के 20 शासकीय आईटीआई को प्रशिक्षण गुणवक्ता तथा इण्डस्ट्री लिंकेज बढ़ाने के लिए 150-250 लाख रूपये का अनुदान प्रति आईटीआई प्राप्त होगा

यह भी पढ़ें – MP: उमा भारती ने किया बड़ा ऐलान, 8 मार्च से शुरु होगा शराबबंदी अभियान

इस राशि से चयनित शासकीय आईटीआई द्वारा स्नातकों की संख्या में 20 प्रतिशत की वृद्धि, संचालित ट्रेड़ों में महिला नामांकन और प्रवेश में 16 प्रतिशत की वृद्धि, कुल नामाकंन और प्रवेश में 25 प्रतिशत की वृद्धि और निधार्रित पाठ्यक्रम के अनुसार कुल प्रशिक्षणार्थियों के ऑन जॉब ट्रेनिंग में 15 प्रतिशत की वृद्धि करने जैसे चार प्रमुख उद्देश्यों की पूर्ति की जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *