बच्चों को भी मिलेगा Corona का ‘सुरक्षा कवच’ ! 12 से 17 साल के युवाओं पर 96 फीसदी प्रभावी है मॉडर्ना वैक्सीन

 

बच्चों को भी मिलेगा कोरोना का 'सुरक्षा कवच' ! 12 से 17 साल के युवाओं पर 96 फीसदी प्रभावी है मॉडर्ना वैक्सीन
सांकेतिक तस्वीर

 

अमेरिका (America) की दवा कंपनी मॉडर्ना (Moderna) ने कहा है कि इसकी कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) 12 से 17 साल के युवा लोगों पर 96 फीसदी तक प्रभावी है. कंपनी ने अपने पहले क्लीनिकल ट्रायल के नतीजों का हवाला देते हुए इसकी जानकारी दी है. अमेरिका में हुए इस ट्रायल में 3,235 लोग शामिल थे, इसमें से दो-तिहाई लोगों को वैक्सीन दी गई, जबकि एक-तिहाई लोगों को गोलियां दी गईं. गौरतलब है कि अभी तक जितनी भी वैक्सीन तैयार हुई हैं, वे 18 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए हैं.

 

 

मॉडर्ना ने कहा कि स्टडी ने दिखाया कि कोविड-19 के खिलाफ वैक्सीन 96 फीसदी तक प्रभावी है. इस दौरान mRNA-1273 ने आमतौर पर सभी चीजें काबू में रखीं और अभी तक कोई भी गंभीर सुरक्षा चिंता देखने को नहीं मिली है. इस ट्रायल में पहली डोज देने के बाद 14 दिनों के भीतर कोरोनावायरस (Coronavirus) के 12 मामले देखने को मिले. इन नतीजों के बाद ट्रायल में शामिल लोगों को दूसरा इंजेक्शन देने के बाद औसतन 35 दिनों तक निगरानी में रखा गया.

 

 

ये भी पढ़ें: कोरोना में महंगाई का संक्रमण: भोपाल में Petrol 99 रुपए, Diesel 90 रुपए के पार, इतना असर होगा आपकी जेब पर

 

 

वैक्सीन लगने के बाद देखने को मिले ये दुष्प्रभाव

अमेरिकी दवा कंपनी ने कहा कि वैक्सीन लगने के बाद किसी भी तरह का दुष्प्रभाव हल्का या मध्यम था. इसमें सबसे सामान्य इंजेक्शन वाली जगह पर दर्द होना रहा. वैक्सीन की दूसरी डोज लेने के बाद सर में दर्द, थकान, मांसपेशियों में दर्द और सिहरन जैसे दुष्प्रभाव देखने को मिले. ये दुष्प्रभाव बिल्कुल उसी प्रकार के थे, जो व्यस्कों को वैक्सीन लगाने के बाद देखने को मिले. मॉडर्ना ने कहा कि अभी तक किसी भी गंभीर सुरक्षा चिंताओं की पहचान नहीं की गई है.

 

 

अभी 18 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों को लग रही है मॉडर्ना की वैक्सीन

मॉडर्ना ने कहा कि कंपनी वर्तमान में रेगुलेटर्स से वैक्सीन की नियामक फाइलिंग को लेकर किए जाने वाले एक संभावित संशोधन को लेकर चर्चा कर रही है, ताकि इस वैक्सीन को इस एज ग्रपु के लिए अनुमति दी जा सके. वर्तमान में मॉडर्ना वैक्सीन को दुनियाभर के कई मुल्कों में 18 साल और उससे ऊपर के उम्र के लोगों को लगाने के लिए मंजूरी दी गई है. फाइजर और बायोएनटेक ने पहले ही अमेरिका और यूरोप में 12-15 साल के बच्चों के लिए अपने वैक्सीन के इस्तेमाल को लेकर मंजूरी देने के लिए आवेदन किया है.

 

 

छह महीने से 11 साल के बच्चों के लिए वैक्सीन का ट्रायल शुरू

कोरोना महामारी को काबू में करने के लिए बच्चों को वैक्सीन लगाना अगले कदम के रूप में देखा जा रहा है. मॉडर्ना ने मार्च में ही छह महीने से लेकर 11 साल के बच्चों के लिए वैक्सीन को लेकर ट्रायल शुरू कर दिए. फाइजर और बायोएनटेक ने मंगलवार को ऐलान किया कि वे अमेरिका में सितंबर में दो से 11 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए अपनी वैक्सीन को लेकर आपातकालीन इस्तेमाल का अनुरोध दर्ज करने की उम्मीद कर रहे हैं.

 

 

 

 

 

 

 

Follow 👇

लाइव अपडेट के लिए हमारे सोशल मीडिया को फॉलो करें:

 

 

 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *