Surekha Sikri

RIP Surekha Sikri: ‘बालिका वधू’ फेम सुरेखा सीकरी का निधन

Surekha Sikri

नेशनल फ‍िल्‍म पुरस्‍कार विजेता सुरेखा सीकरी (Surekha Sikri) अब हमारे बीच नहीं रहीं. 75 साल की उम्र में उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया. सुरेखा लंबे समय से बीमार चल रही थीं, कार्डिएक अरेस्ट की वजह से उनका निधन हुआ. मशहूर सीरियल ‘बालिका वधू’ में ‘दादी सा’ की भूमिका निभाने वाली सुरेखा के निधन से हिंदी टीवी जगत में शोक की लहर है. उनके मैनेजर ने इस दुखद खबर की पुष्टि की है.

WhatsApp & Telegram Group Join Buttons
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

अपनी कला के दम पर हासिल किया अपना मुकाम

सुरेखा सीकरी उन कलाकारों में से एक थीं, जिन्होंने अपनी कला के दम पर अपना मुकाम हासिल किया । छोटे पर्दे पर कड़क सास तो बड़े पर्दे पर चिल सास के अवतार से सुरेखा ने दर्शकों के दिलों में एक खास जगह बना ली। 70 के दशक से लेकर 80 के दशक तक एक्ट्रेस ने कई दिग्गज लोगों संग काम किया और अपने शानदार काम से कई पुरस्कार भी अपने नाम किए।

इसे भी पढ़ें :- Best 10 smartphones under 10,000 in 2021

सुरेखा सीकरी का बॉलीवुड डेब्यू

19 अप्रैल 1945 को दिल्ली में जन्मीं सुरेखा सीकरी अमरोहा और नैनीताल में पली बढ़ीं। उनका बचपन से सपना था कि वह बड़े होकर एक पत्रकार बनना चाहती हैं, लेकिन शायद सुरेखा की किस्मत कुछ और ही चाहती थी। साल 1978 में सुरेखा ने फिल्म ‘किस्सा कुर्सी का’ से बॉलीवुड में अपना डेब्यू किया। इसके बाद उन्होंने कई उनकी कुछ बेहतरीन फिल्मों में 1986 में आई ‘तमस’, 1991 में ‘नजर’, 1996 में ‘सरदारी बेगम’, 1999 में ‘सरफरोश’, साल 2004 में आई फिल्म ‘तुमसा नहीं देखा’ शामिल हैं। साल 2018 में रिलीज हुई कॉमेडी फिल्म ‘बधाई हो’ में उन्होंने आयुष्मान की दादी दुर्गा देवी कौशिक का किरदार निभाया था। इस रोल के लिए उन्होंने सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीता था।

WhatsApp & Telegram Group Join Buttons
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

टीवी पर बनीं कभी कड़क सास तो की चुलबुली दादी

सिनेमाजगत में लगभग 50 साल तक काम करने के बाद उन्होने टीवी पर डेब्यू किया। अपनी पहली टीवी सीरियल ‘बालिक वधू’ में सुरेखा एक सख्त सास के रूप में नज़र आईं। झूले पर बैठे हुए सुरेखा के कड़क डायलॉग लोगों के दिलों में जा बसे और रातोंरात वह हर घर में मशहूर हो गईं। आज भी दादी सा के रूप में सुरेखा को याद किया जाता है। ‘बालिका वधू’ के अलावा शो ‘एक था राजा एक थी रानी’, ‘परदेस में है मेरा दिल’ में कड़क सास का रोल प्ले किया। सुरेखा को लेकर ये कहना गलत नहीं होगा कि उन्होंने टीवी के लगभग सभी सीरियलों में दादी या बड़ी मां के किरदार में अपने अभिनय का एक अनोखा ही रुप दिखाया। वह सास बनकर अगर अपना तेवर दिखाती थीं तो वहीं चुलबुली दादी बनकर दर्शकों के दिलों पर राज करती थीं।

इसे भी पढ़ें :- फर्जी CBI अफसर बन लोगों को दे रहा था धोखा, खुद को ऑफिसर बताकर की थी शादी, पत्नी ने थाने में दर्ज कराई FIR के बाद गिरफ्तार

आर्थिक तंगी गुजरे कुछ पल

अपने करियर में इतनी हिट फिल्में और सीरियल दे चुकीं सुरेखा सिकरी एक वक्त पर आर्थिक तंगी से गुजर रही थीं। इसी बीच उन्हें अचानक ब्रेन स्ट्रोक हो गया था। पैसों की कमी के कारण उनके इलाज में भी दिक्कत आने लगी थी। उन्हे ऐसा स्ट्रोक फिल्म बधाई हो की रिलीज के दौरान भी पड़ा था। इससे उन्हें आंशिक रुप से लकवा भी मार गया था। इसके बाद से उनकी देखभाल के लिए एक नर्स हमेशा उनके साथ रहती थी।

Follow 👇

लाइव अपडेट के लिए हमारे सोशल मीडिया को फॉलो करें:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *