खरगोन में बर्ड फ्लू की आशंका, 3 दिनों में 15 कौओं की मौत

इंदौर: इंदौर में 50 कौओं के बाद अब खरगोन के कसरावद क्षेत्र में भी 3 दिन में 15 कौओं की मौत हो गई। इन सभी कौओं की मौत इलाके के महादेव मंदिर के पहाड़ी क्षेत्र स्थित बरगद से गिरकर हुई है। बर्ड फ्लू की आशंका को देखते हुए इन कौओं के शवों को लैब में जांच के लिए भेज दिया है। जांच रिपोर्ट के बाद स्पष्ट हो जाएगा कि इनकी मौत कैसे हुई। वहीं, जिले में एक कोयल की भी मौत की खबर है।

युवक ने उधारी नहीं चुकाया तो दोस्तों ने किया किडनैप, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

महादेव मंदिर से जुड़े जितेंद्र गिरी ने बताया परिसर के पास बरगद के पेड़ पर कौए रहते हैं. लेकिन पिछले 3 दिनों में पक्षी पेड़ से गिर रहे हैं। उन्हें बचाने के लिए पानी भी पिलाया गया था, लेकिन वे बच नहीं पाए. इन कौओं की मौत पेड़ से गिरने के कुछ देर बाद ही हो जा रही है, जितेंद्र गिरी के मुताबिक अभी भी कुछ मरे हुए कौए पेड़ में लटके हुए हैं।

मौसम विभाग ने जारी किया येलो अलर्ट, 3 से 5 जनवरी तक बारिश, बर्फबारी, बिजली की संभावना

बीते दिनों इंदौर में हुई थी कौओं की मौत
इंदौर के डेली कॉलेज परिसर में पिछले तीन दिनों में 50 कौओं की मौत हुई थी. जांच के बाद 2 कौओं में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई थी। चिड़ियाघरों के पक्षियों में वायरस न फैले इसलिए उनके एनक्लोजर में छिड़काव किया जा रहा है।साथ ही उनकी विशेष देखरेख भी की जा रही है।

भोपाल लैब में कराई गई थी जांच
इंदौर में 50 कौओं की मौत से पूरे प्रदेश में हड़कंप मच गया था। लोगों को समझ नहीं आ रहा था कि कैसे इतनी ज्यादा संख्या कौओं की मौत हो गई। मौत के सही कारणों का पता चल सके, इसलिए पशु चिकित्सा विभाग ने भोपल लैब में जांच कराई थी, जिसके बाद दो कौओं में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई।

इंदौर में सर्दी-खांसी वाले मरीजों की हो रही जांच
बर्ड फ्लू को देखते हुए इंदौर में कोरोना वायरस के अलावा बर्ड फ्लू की भी सैंपलिंग शुरू कर दी गई है। जिसके तहत डेली कॉलेज परिसर के 5 किलोमीटर दायरे में आने वाले सर्दी-जुकाम के मरीजों का चेकअप किया जा रहा है। साथ ही मेडिकल टीम द्वारा ऐसे मरीजों को ढूंढ़ा भी जा रहा है। इसके लिए सर्विलांस की एक अलग टीम भी बनाई गई है।

पूरे प्रदेश में जारी हुआ अलर्ट
इंदौर में बड़ी तादाद में कौओं की मौत के बाद पूरे प्रदेश में वन विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है। साथ ही वन अधिकारियों को पक्षियों के साथ-साथ जलाशयों की भी निगरानी के आदेश दिए गए हैं।

सबसे पहले राजस्थान में बर्ड फ्लू ने दी दस्तक
बर्ड फ्लू की पुष्टि सबसे पहले राजस्थान के नागौर जिले में मरे हुए कौओं में हुई थी। बर्ड फ्लू की वजह से राजस्थान के नागौर जिले में अब तक 295 कौओं की मौत हो चुकी है. इनमें 52 मोर भी शामिल हैं। जिसकी वजह से राजस्थान के सभी सेंचुरी और अभयारण्यों में अधिकारियों को अलर्ट कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *