भारतीय-अमेरिकी सांसद की जो बाइडेन से मांग, संकट की घड़ी में भारत को एस्ट्राजेनेका वैक्सीन जल्द भेजे अमेरिका

भारतीय-अमेरिकी सांसद की जो बाइडेन से मांग, संकट की घड़ी में भारत को AstraZeneca vaccines जल्द भेजे अमेरिका

 

भारतीय-अमेरिकी सांसद की जो बाइडेन से मांग, संकट की घड़ी में भारत को एस्ट्राजेनेका वैक्सीन जल्द भेजे अमेरिका

 

भारतीय-अमेरिकी सांसद राजा कृष्णमूर्ति (Raja Krishnamoorthi) ने मंगलवार को अमेरिका (America) के राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) के प्रशासन से कहा कि वह भारत को तेजी से एस्ट्राजेनेका वैक्सीन (AstraZeneca vaccines) की सप्लाई भेजे. इसके अलावा, इन वैक्सीन को उन देशों में भी भेजा जाए, जो कोरोना के बढ़ते मामलों से जूझ रहे हैं. कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से भारत में स्वास्थ्य व्यवस्था बुरी तरह चरमरा उठी है. हर दिन बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं. वैक्सीनेशन की धीमी रफ्तार भी इसमें बाधा बनकर उभर रही है.

 

 

कृष्णमूर्ति ने ट्वीट कर कहा, भारत और अन्य मुल्कों में एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के हमारे स्टोर्स से कोरोना से लड़ा जा सकता है. मैं सांसद कैरोलिन बी मालोनी, जैम्स ई क्लाईबर्न और स्टीफन लिंच के साथ बाइडेन प्रशासन से एक ब्रीफिंग का अनुरोध करता हूं, ताकि वैक्सीन को तेजी से उन मुल्कों में भेजा जा सके, जहां इसकी जरूरत है. कृष्णमूर्ति ने अमेरिकी कांग्रेस को लिखे एक पत्र में स्वास्थ्य मंत्री जेवियर बेकर्रा और विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन के प्रयासों की तारीफ भी की.

 

 

अब प्रशासन को दूसरे मुल्कों की मदद करने की जरूरत

इस पत्र में भारतीय-अमेरिकी सांसद ने लिखा, अमेरिका में कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए आपके द्वारा उठाए गए कदमों की हम सराहना करते हैं. प्रशासन द्वारा अमेरिकी नागरिकों को बचाने में बड़ी सफलता के बाद अब वर्तमान में हमें दुनिया के उन मुल्कों की मदद करनी चाहिए, जो बढ़ते कोरोना मामलों से जूझ रहे हैं. हम सोमवार, 26 अप्रैल 2021 को प्रशासन के निर्णय की सराहना करते हैं, जिसमें उसने अंतरराष्ट्रीय समुदाय को छह करोड़ एस्ट्राजेनेका वैक्सीन खुराक भेजने की तैयारी की.

 

 

 

 

कोरोना से लड़ रहे देशों को वैक्सीन भेजना जरूरी

पत्र में कृष्णमूर्ति ने कहा, भारत, अर्जेंटीना और ब्राजील में बड़े पैमाने पर कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं. अकेले भारत में सिर्फ तीन दिनों के भीतर 10 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो गए हैं. इसमें आगे लिखा गया, प्रशासन का वैक्सीन भेजने का निर्णय ठीक मालूम पड़ता है, क्योंकि एस्ट्राजेनेका वैक्सीन का वर्तमान में अमेरिका में कोई प्रयोग नहीं है. इसके पीछे की वजह ये है कि कंपनी ने अभी तक आपातकालीन प्रयोग के लिए ‘फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन’ को आवेदन नहीं दिया है.

 

 

‘फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन’ की समीक्षा के बाद होगी वैक्सीन की डिलीवरी: व्हाइट हाउस

हालांकि, व्हाइट हाउस (White House) की प्रेस सचिव जेन साकी ने सोमवार को कहा कि वैक्सीन की ये शिपमेंट तुरंत नहीं भेजी जाएंगीं. जब तक ‘फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन’ इसकी समीक्षा नहीं कर लेता है, तब तक एक भी डोज साझा नहीं की जाएगी. ऐसे में इसमें कई सप्ताह का वक्त लग सकता है. वहीं, अमेरिका ने प्रतिज्ञा ली है कि वह चार जुलाई को अपने स्वतंत्रता दिवास के मौके को कोविड फ्री देश के रूप में मनाएगा.

 

 

 

 

 

 

Follow 👇

लाइव अपडेट के लिए हमारे सोशल मीडिया को फॉलो करें:

 

 

 

Source link

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *