आज शायद ही हो सके आपकी बीमारी का इलाज, कोरोना सेवा भी रोक सकते हैं डॉक्टर्स!

 

मांगों को लेकर प्रदेश के जूनियर डॉक्टर्स हड़ताल पर चले गए हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

 

भोपाल. प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाएं गुरुवार को चरमरा सकती हैं. जूनियर डॉक्टर आज हड़ताल पर जाएंगे और इमरजेंसी सेवाएं बंद रखेंगे. जूनियर डॉक्सटर्स एसोसिएशन (जूडा) ने सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाया है. उन्हें न उचित वेतन दिया जा रहा है और न ही उनकी सुरक्षा और इलाज की व्यवस्थाएं मुहैया कराई जा रही हैं. जूडा, अध्यक्ष डॉ हरीश पाठक का कहना है कि जूनियर डॉक्टर्स कभी भी हड़ताल करने के पक्ष में नहीं थे.
हमारे द्वारा पिछले 6 महीने से लगातार सरकार तथा प्रशासनिक अधिकारियों से संपर्क किया जा रहा है. हमारी मांगों से उन्हें अवगत करवाया गया है. हमने डीन से लेकर मुख्यमंत्री तक को मांगों से अवगत कराया है परंतु हमारे इस शांतिपूर्ण वार्तालाप को सरकार द्वारा हमारी कमजोरी मान कर हमें अनदेखा किया जाता रहा है. इसलिए विवश होकर हमें यह कदम उठाना पड़ रहा है. अगर सरकार हमारी मांगों पर विचार करके आदेश पारित करती है. तो जूनियर डॉक्टर विश्वास दिलाते हैं कि आदेश पारित होने के बाद जूनियर डॉक्टर अपने काम पर चले जाएंगे.
समानांतर ओपीडी चलाकर रखा मरीजों का ध्यान, रोक देंगे कोरोना सेवा
पाठक ने कहा कि हमने 8 अप्रैल से लेकर 12 अप्रैल तक समानांतर ओपीडी चलाकर मरीजों के हित को ध्यान में रखा. 12 अप्रैल को मंत्री विश्वास सारंग के आश्वासन पर ही हमने अपनी हड़ताल को रद्द कर दिया, परंतु आज एक महीने बाद भी सरकार द्वारा हमारी कोई मांग नहीं सुनी गई. इसी वजह से हम यह कदम उठा रहे हैं. इसके लिए प्रशासन ही पूर्ण रूप से जिम्मेदार है. आज हम हड़ताल पर जाएंगे. अगर 7 मई सुबह 8 बजे तक हमारी मांगे नहीं मानी जाती हैं तो उसी वक्त से कोरोना सेवा का भी बहिष्कार किया जाएगा.
एमपी में पिछले 24 घंटों में मिले 12319 नए केस
मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार जरा कम हुई है. पिछले 24 घंटों में 13 हजार से कम नए मामले सामने आए हैं. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, रिकवरी रेट और पॉजिटिविटी रेट बढ़ा है. जबकि डेथ रेट में कमी आई है. प्रदेश में अब कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या बढ़ रही है. स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, अभी प्रदेश में 89244 नए एक्टिव केस हैं. पिछले 24 घंटों में कोरोना के 12319 नए मामले सामने आए हैं.
प्रदेश भर में 9643 लोग हुए स्वस्थ हुए हैं. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, प्रदेश की रिकवरी रेट 84.7% और डेथ रेट 1% हो गई है. पिछले 24 घंटों में प्रदेश के 12 ज़िलों में 200 से अधिक नए प्रकरण सामने आए हैं. स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के मुताबिक, 28 अप्रैल तक साप्ताहिक मामले 91354 थे.प्रदेश के साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट में भी इजाफा हुआ है. फिलहाल पॉजिटिविटी रेट 20.3% है.

 

 

 

 

 

Follow 👇

लाइव अपडेट के लिए हमारे सोशल मीडिया को फॉलो करें:

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *