Kangana Ranaut बोलीं- ‘अमेरिकन को लगता है, अश्वेत को गुलाम बनाना उनका हक है’

 

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने ट्विटर अकाउंट सस्पेंड करने पर प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि, वे आपको बताना चाहते हैं कि आपको क्या सोचना है, बोलना या क्या करना है. मेरे पास कई प्लेटफॉर्म हैं जिनका उपयोग मैं अपनी आवाज उठाने के लिए कर सकती हूं.

मुंबई. बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने अपना ट्विटर अकाउंट सस्पेंड करने पर तीखी प्रतिक्रिया जताई है. उन्होंने कहा है कि, ट्विटर ने केवल मेरी बात को साबित किया है कि वे अमेरिकी हैं और जन्म से एक व्हाइट परसन को लगता है कि एक ब्राउन परसन को गुलाम बनाना उसका हक है. वे आपको बताना चाहते हैं कि आपको क्या सोचना है, बोलना या क्या करना है. मेरे पास कई प्लेटफॉर्म हैं जिनका उपयोग मैं अपनी आवाज उठाने के लिए कर सकती हूं, जिसमें सिनेमा के रूप में मेरी आर्ट भी शामिल है.
बंगाल चुनाव में बीजेपी की हार और तृणमूल कांग्रेस (TMC) की जीत के बाद से कंगना रनौत (Kangana  Ranaut) लगातार विवाद को भड़काने वाले बयान दे रही हैं. उन्होंने तो कश्मीर से बंगाल की तुलना करके और ममता बनर्जी को खून की प्यासी ताड़का तक कह दिया था. यही नहीं उन्होंने भारत सरकार को बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की सलाह भी दे दी थी. ट्विटर अकाउंट सस्पेंड होने के बाद कंगना ने इंस्टाग्राम अकाउंट पर अपना दर्द बयां किया है.
अपने दूसरे ट्वीट में कंगना ने लिखा है कि, ‘मेरा दिल इस देश के उन लोगों पर चला जाता है जिन्हें हजारों साल तक यातना, गुलाम और सेंसर किया गया, और अभी भी उनके दुख का कोई अंत नहीं है.’ ट्विटर ने भी कंगना के अकाउंट सस्पेंशन को लेकर ट्वीट किया है. ट्विटर ने बताया है कि, ‘हमें स्पष्ट हो गया है कि हम व्यवहार पर स्ट्रांग एन्फोर्समेंट एक्शन लेंगे, जिसमें ऑफलाइन नुकसान पहुंचाने की क्षमता है. कंगना के अकाउंट को ट्विटर नियमों के बार-बार उल्लंघन के लिए स्थायी रूप से सस्पेंड कर दिया गया है. विशेष रूप से हेटफुल कंडक्ट पॉलिसी और बिहेवियरल पॉलिसी के आधार पर यह कार्रवाई की गई है.’

 

 

 

 

Follow 👇

लाइव अपडेट के लिए हमारे सोशल मीडिया को फॉलो करें:

Source link

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *