ऑनलाइन कक्षाओं को लेकर विवि में चली मैराथन बैठक

ऑनलाइन कक्षाओं को लेकर विवि में चली मैराथन बैठक

रीवा . अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय में संचालित होने वाली कक्षाओं को लेकर गुरुवार के दिन मैराथन बैठक चली। इस दौरान कुलपति सहित कुलसचिब और विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष, वरिष्ठ आचार्य उपस्थित रहे। इस दौरान सभी की सहमति से विभिन्न पाठ्यक्रमों की ऑनलाइन कक्षाएं संचालित करने का निर्णय लिया गया। 

वहीं इसके लिए आवश्यक विभिन्न पहलुओं की रूपरेखा तैयार करने के लिए कहा गया। से का कहना है कि इस मैराथन बैठक के दौरान मुख्य रूप से शिक्षकों की कमी का जिक्र किया गया। जिसके समाधान के लिए अतिथि विद्वानों की वापसी के लिए लाए गए प्रस्ताव का अनुमोदन भी किया गया। बताया गया है कि जल्द ही इसके लिए आवश्यक प्रक्रिया पूरी की जाएगी, जिससे ऑनलाइन पढ़ाई का रास्ता साफ किया जा सके।

20 अक्टूबर तक घोषित होने हैं परीक्षाफल

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग( यूजीसी ) सहित मप्र शासन उच्चशिक्षा विभाग की ओर से सभी विश्वविद्यालयों को 20 अक्टूबर तक परीक्षाफल घोषित करने के लिए निर्देशित किया गया है। ऐसे में जब तक परीक्षाफल घोषित नहीं किया जाता तब तक वह किसी नए पाठ्यक्रम में प्रवेश नहीं ले सकते हैं। हालाकि विश्वविद्यालय ने सभी अग्रणी महाविद्यालयों को आगामी दस अक्टूबर तक उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य पूरा करने के लिए कहा है। साथ ही ऑनलाइन के जरिए विद्यार्थियों के प्राप्तांक देने के लिए कहा गया है। विश्वविद्यालय प्रबंधन के अनुसार समय सीमा पर मूल्यांकन कार्य पूरा होने पर वह 20 अक्टूबर तक परीक्षाफल दे पाएंगे। वहीं यदि मूल्यांकन का में देरी होने की स्थिति में परीक्षाफल तैयार करने में विश्वविद्यालय को देरी हो सकती है।

एक अक्टूक से कक्षाएं आयोजित काने के निर्देश

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग(यूजीसी ) की गाइडलाइन के अनुसार एक अक्टूबर से ऑनलाइन कक्षाओं की शुरुआत होनी थी। जिसे देखते हुए  विश्वविद्यालय प्रबंधन की ओर से यह बैठक आयोजित को गई थी। बताया गया है कि बैठक के दौरान विद्यार्थियों को अध्ययन सामग्री आदि पहुंचाने के लिए बाट्स गुरप सहित अन्य ऑनलाइन तरीके से छात्रों को जोड़ने के लिए कहा गया है। जिससे उन्हे निर्धारित समय सीमा में आवश्यक और उपयोगी सामग्रियां पहुंचाई जा सकें।

कुछ कॉलेजों ने उपलब्ध कराई अध्ययन सामग्री

एक ओर जहां आगामी दिनों में विद्यार्थियों को ऑनलाइन कक्षाओं को देखते हुए अध्ययन सामग्री उपलब्ध कराने की कवायद की जा रही है। वहीं ऐसे भी कुछ महाविद्यालय हैं, जिन्होंने ऑनलाइन सामग्री उपलब्ध कराने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। मुख्य रूप से शहर स्थित टीआरएस कॉलेज, मॉडल साइंस कॉलेज, न्यू साइंस कॉलेज और कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय के नाम शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.