WhatsApp का सामने आया असली चेहरा, भारत के साथ कर रहा है ‘खेल’!

mpnewsnow.com

सामने आया व्हाट्सएप (whatsapp) का नया खेल आया व्हाट्सएप का दोहरा चरित्र! हिंदुस्तान के लिए पॉलिसी कुछ और दुनिया के लिए पॉलिसी कुछ और व्हाट्सएप पर पिछले ही हफ्ते अपनी नई पॉलिसी और शर्तों का ऐलान किया था, जिसके मुताबिक भारतीय यूजर्स के पास नई पॉलिसी का पॉपअप आएगा, जिसे उन्हें एक्सेप्ट करना होगा। ऐसा न करने पर 8 फरवरी 2021 के बाद आप व्हाट्सएप नहीं चला पाएंगे। उसके बाद हिंदुस्तान में व्हाट्सएप के इस्तेमाल को लेकर व्हाट्सएप ग्रुप पर भी जबरदस्त बहस चल रही है।

यह भी पढ़ें – MP: 25 कड़कनाथ चूजे की मौत, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

लेकिन इन सबके बीच व्हाट्सएप के दोहरे चरित्र का खुलासा हुआ है जिसके मुताबिक व्हाट्सएप हिंदुस्तान में तो नहीं यूजर पॉलिसी और शर्तों को लागू करने जा रहा है, लेकिन यूरोप में उसने हैरान किया है जो उसके यूजर अपनी पुरानी शर्तों के तहत ही व्हाट्सएप का इस्तेमाल कर पाएंगे। यानी यूरोप में व्हाट्सएप लोगों का खास डाटा नहीं मांगेगा। सवाल उठता है आखिर हिंदुस्तान से डाटा कि मांग जोरों पर व्हाट्सएप इतना मेहरबान क्यों तो इसके पीछे का असली खेल समझ ही?

यह भी पढ़ें – Covid-19 के खिलाफ आज से टीकाकरण, PM Modi करेंगे उद्घाटन

व्हाट्सएप को पता है। हिंदुस्तान में व्हाट्सएप के करीब 40 करोड़ यूजर हैं। यानी डाटा हथियाने का बड़ा। बाजार फिलहाल भारत में इंटरनेट संबंधी कई पॉलिसी का बड़ा भाव है। हिंदुस्तान में अभी तक यानी (Privacy law) नीचता कानून भी नहीं है। डाटा प्रोटेक्शन लो भी नहीं है और सरकार आने वाले दिनों में डाटा प्रोटक्शन बिल लाने वाली है जिसके बाद कोई भी कंपनी अपनी मर्जी से देश के लोगों का डाटा नहीं ले पाएगी।

यह भी पढ़ें – Itel Vision 1 Pro ने भारत में लॉन्च किया स्मार्टफोन, कीमत 6,599 रुपए

ऐसे में वोट से हिंदुस्तान में ऐसी उधर पॉलिसी लेकर आया है जिसे डाटा प्रोटेक्शन कानून आने से पहले इस्तेमाल करके वह हिंदुस्तान के 40 करोड़ व्हाट्सएप यूजर्स का बेहद निजी डेटा हत्या कर उसे मोटी कमाई कर सकें, जबकि यूरोप में पहले से ही डाटा प्रोटक्शन लॉ लागू है। वह व्हाट्सएप की दाल नहीं कर सकती थी। लिहाजा उन्होंने वहां पर पॉलिसी की कोई बात नहीं की।

साइबर एक्सपर्ट: व्हाट्सएप की यह जो कमिटमेंट हो रही है, प्राइवेसी पॉलिसी में घोर हनन होगा। आपकी प्राइवेसी का व्हाट्सएप फैक्ट्री कह रहा है कि आप अपने? हाथ काट दे दीजिए और क्या कि मुझे दे दीजिए यानी कि अगर आपकी कोई भी एक्सपेक्टेशन प्राइवेसी है तो उसके बारे में भूल जाएंगे क्योंकि मैं आपके डाटा को मोनेटाइज करूंगा और आप मुझे परमिशन परमिशन नहीं यूज करना बंद कर दीजिए। मुझे लगता है कि नेटवर्क का पाठ व्हाट्सएप हो गया है और इनसे थोड़ा सा खतरे की घंटी बजाता है क्योंकि फेसबुक पहले भी इस तरह की एक्टिविटीज जुड़ा रहा है। जहां पर कुछ ग्रेमाउथ रहे हैं कि किस तरह से वह डेटाकलर करता है या कहां-कहां पर उसको शेयर करता है।

यह भी पढ़ें – Jabalpur: दो पक्षों में रुपये के लेन देन पर मारपीट, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

16 तरह की डिटेल्स मांग रहा है व्हाट्सएप

नंबर लोकेशन कांटेक्ट आईपी ऐड्रेस से लेकर क्रेडिट पेमेंट इंफॉर्मेशन अदर u10 डाटा तक शामिल है। इनमें सबसे खास है आपकी बैंकिंग डिटेल यानी। अपने मोबाइल पर जो भी ट्रांजैक्शन करेंगे चाहे क्रेडिट डेबिट या इंटरनेट बैंकिंग यूजर नेम पासवर्ड सब के सब व्हाट्सएप के अकाउंट के जरिए व्हाट्सएप के स्टोरेज में पहुंच सकते हैं। मतलब आप पर सबसे बड़ा खतरा मंडराने वाला है। आपकी बहन की प्रणाली पर खतरा तो क्या हो गया। आपकी सुरक्षा क्या हो गया।

यह भी पढ़ें – Gwalior: खुशखबरी बंद पैसेंजर ट्रेनें जल्द दौड़ेंगी पटरी पर, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

आपकी निजी मुख्य द्वार पर विभाग बहुत स्पष्ट है कि जो प्रपोज्ड अमेंडमेंट्स इन की प्राइवेसी पॉलिसी में यह आपकी निजता का हनन और भारत के सूचना प्रौद्योगिकी कानून और उसके अंतर्गत जो रूल्स रेगुलेशंस बने हैं। उनका भी विशेष तौर पर उल्लंघन है कि डेटा सुरक्षा को लेकर व्हाट्सएप तमाम तरह का भरोसा दे चुका है।

यह भी पढ़ें – Corona Vaccine: जानिए देश में कोरोना वैक्सीनेशन किसको लगेगी किसको नहीं, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

उसके मुताबिक सिर्फ बिजनेस अकाउंट का डाटा प्रमोशन के लिए लिया जाएगा तो सवाल यह है फिर बाकी लोगों से डाटा की डिमांड क्यों व्हाट्सएप पर बोल बोलता है वही कर? लिखित गारंटी जैसी कोई बात क्यों नहीं है। ऐसे में लगता तो यही है कि व्हाट्सएप को हिंदुस्तान के लोगों की निजता की सुरक्षा से ज्यादा पैसे कमाने की चिंता है। यानी फ्री व्हाट्सएप के नाम पर वह हमसे और आपसे बड़ी कीमत वसूलने के चक्कर में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *