बापूजी का सीक्रेट सभी के सामने आ ही गया।

जेठालाल बापूजी को छोड़कर पूना गए थे।

बापूजी अपने दोस्तों से मिले और जमकर पार्टी शार्टी की।

जिसे सोढी और पोपटलाल ने अपनी आंखों से देखा।

सोढ़ी और पोपटलाल ने सोसायटी में पहुंचकर सभी दोस्तों को बताई।

बापूजी सोसायटी में पहुंचे तो उनके लड़खड़ाते कदमों से सब सच आया।

जेठालाल को उनके दोस्तों ने उन्हें बापूजी के सच से रूबरू करवाया।

उन्हें वीडियो दिखाई गई जिसमें बापूजी नशे में नजर आ रहे हैं।

ये देखकर उनके पैरों तले जमीन ही खिसक गई।