जेठालाल की जिंदगी में कोई टेंशन ना हो ऐसा तो हो ही नहीं सकता।

एक टेंशन खत्म होती है तो दूसरी उनकी राहों में आकर खड़ी हो जाती है।

दरअसल, जेठालाल की दुकान में एक आम की पेटी आई है।

लेकिन खास बात ये है की आम की पेटी लाखों रुपये हैं।

 ये रुपये जेठालाल के दोस्त को देने के लिये है।

लेकिन बापूजी के साथ जेठालाल को कहीं जाना पड़ रहा है।

लिहाजा अब सारे पैसों और इस आम की पेटी की जिम्मेदारी आ गई है बाघा के सिर।

अब ये तो सब जानते हैं कि जेठालाल की जिंदगी में सब कुछ ठीक होने लगता है।

इस बार देखना ये होगा की जेठालाल के साथ क्या गड़बड़ होती है।