Ganesh Chaturthi पर 10 दिनों तक ये अलग अलग भोग लगा सकते हैं। 

पायसम: नारियल दूध और गुड़ से बनाई जाती है पायसम। 

तिल के लड्डू: तिल, गुड़, मूंगफली और सूखे नारियल बनाई जाती है। 

खीर: चावल की खीर भी भोग के लिए एक दम परफेक्ट है। 

पूरनपोली: गणपति महराज को भोग के रूप में लगा सकते हैं। 

बेसन के लड्डू का भोग भी गणपति महराज को चढ़ा सकते हैं। 

मोतीचूर लड्डू का भोग लगा सकते हैं। 

मोदक का भोग लगा सकते हैं, मोदक उनका प्रिय भोग में से एक है। 

बासुंदी मीठे गाढ़ा दूध से तैयार होता है, इसका भोग लगा सकते हैं। 

कलाकंद भोग के रूप में तैयार कर चढ़ा सकते हैं। 

श्रीखंड यह एक पारंपरिक स्वीट डिश है, इसका भोग लगा सकते हैं।