Sharda Welfare Foundation and NPCL ने 12 सरकारी स्कूलों में शुरू किया मेगा हेल्थ ड्राइव

Sharda Welfare Foundation and NPCL

नोएडा: शारदा ग्रुप के फिलंथरोपीक विभाग, शारदा वेलफेयर फाउंडेशन ग्रेटर नोएडा (Sharda Welfare Foundation Greater Noida) के सरकारी स्कूलों में नोएडा पावर कंपनी लिमिटेड के सीएसआर सपोर्ट के साथ मेगा हेल्थ ड्राइव शुरू की है। इस ड्राइव के अंतर्गत एक मेडिकल टीम जिसमें पीडियाट्रिक, डेंटल और आई डॉक्टर शामिल हैं, गौतम बुद्ध नगर के चुनिंदास्कूलों में विजिट कर रही है।

इस कैंपेनके तहत, बच्चों की सेहत के नजरिए से महत्त्वपूर्णतीन मौलिक पहलुओं पर फोकस किया गया है और वह हैं विकास, एनीमिया और किसी भी आनुवंशिकया फिर लंबे समय से चल रहे बीमारियोंके लक्षण हैं। इस टीम ने बच्चों के लिए जांच और परीक्षण के साथ-साथआगे चलकर फॉलो अप प्रोग्राम बनाया जिसमें एक संतुलित आहारपर भी फोकस किया गया है। इसके साथ ही सरकारी स्कूलों के बच्चों की अच्छी सेहत के लिए स्वस्थ प्रथाओं (हैल्थ प्रैक्टोसेस) को बढ़ावा दिया गया है।

Indore News: ‘उन्नति की पाठशाला’ में बच्चों ने दिया पर्यावरण संरक्षण का संदेश

कैंपेन टीम ने इस प्रोग्राम के लाभों कोऐसी कई अन्य सरकारी स्कूलों में बढ़ाने का भी सोचा है जहां के बच्चों को उनकी जरूरतों के मुताबिक सारी स्वास्थ संबंधित सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं। इस मेगा हेल्थ ड्राइव में शारदा अस्पतालऔर शारदा यूनिवर्सिटी की डेंटल स्कूल ऑफ साइंस की मेडिकल टीम जिसको डॉक्टर पूनम छीलर विज, डिपार्टमेंट ऑफ पेड्रियाटिस, शारदा अस्पताल, डॉक्टर धवल, डिपार्टमेंट ऑफ पेड्रियाटिक्स, शारदा अस्पताल, डॉक्टर ऋषभ सिंह, डिपार्टमेंट ऑफ ओप्थामलॉजी, शारदा अस्पताल, डॉक्टर सचिन कुमार बिधुरी, डिपार्टमेंट ऑफ पब्लिक डेंटिस्ट्री, स्कूल ऑफ डेंटल साइंस, शारदा यूनिवर्सिटी द्वारा लीड किया जा रहा है शामिल हैं।

ऐसी ही हेल्थ ड्राइव शारदा वेलफेयर फाउंडेशन ने नवम्बर में कंडक्ट की थी जिस में सामने आया था की 70 प्रतिशत बच्चों को डेंटल केयर की जरूरत है और 30 प्रतिशत बच्चों को चश्मों की जरूरत है। और भी बहुत सारे बच्चों को स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं हैं जिस में डाइट में कमी और अस्वास्थ्यकर खाने की आदतेंआदि शामिल हैं। इसका कारण ये भी है के ग्रेटर नोएडा और आस पास के क्षेत्रों में सामाजिक बेहतरी के लिए कार्यरत संस्थाओं आदि की कमी हैजो बच्चों की सेहतके क्षेत्र पर फोकस करे। शारदा वेलफेयर फाउंडेशन इस क्षेत्र में एक भरोसेमंद संस्थान के रूप में बच्चों केस्वास्थ्य से जुड़े सुविधाओंके लिए ही आगे आई है।

‘फाइल नंबर 323’ से बड़े परदे पर वापसी करेंगी सौम्या टंडन

इस ड्राइव के लक्ष्य कोसमझाते हुए डॉ देश राज सिंह, असिस्टेंट रजिस्ट्रार, शारदा वेलफेयर फाउंडेशन का कहना है कि, “हमारी संस्था, सरकारी स्कूलों और कारपोरेट के साथ मिलकर काम कर रहे हैं ताकि जरूरतमंद बच्चों को स्वास्थ्य से जुड़ी सारी सुविधाएं प्रदान की जा सके। एनपीसीएल के साथ इस पार्टनरशिप में आकर हम न केवल 12 सरकारी स्कूलों के बच्चों के स्वास्थ्य से जुड़ी तुरंत प्राप्त की जाने वाली सुविधाओं को प्रदान करने का काम कर रहे हैं बल्कि बच्चों को अस्पताल में ट्रीटमेंट दिलाने में भी मदद कर रहे हैं।

मेघा डोसी, हेड ऑफ बिजनेस एक्सीलेंस और कस्टमर रिलेशन एट एनपीसीएल, का कहना है कि,”ग्रेटर नोएडा में चल रहे इस हेल्थ ड्राइव के अंतर्गत हम स्कूल के अंदर ही बच्चों को उनके लिए जरूरी स्वास्थ सुविधाएं प्रदान करने का काम कर रहे हैं। हम शारदा वेलफेयर फाउंडेशन के साथ हाथ मिला कर काफी खुश हैं जो लोगों के कल्याण के लिए काफी अच्छा काम कर रहे हैं।

शारदा वेलफेयर फाउंडेशन, शारदा ग्रुप के सामाजिक कल्याण के विचार पर काम कर रही है ताकि लोगों के कल्याण और अच्छी सेहत की ओर काम किया जा सके। यह काम उनके सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल नंबर 3 के अंतर्गत आता है। फाउंडेशन के द्वारा शुरू की गई स्वास्थ्य से जुड़ी विभिन्न पहलों में सस्ते दामों पर बेहतर स्वास्थ सुविधाएंप्रदान करना, जो लोगइन सुविधाएंको अफोर्ड नहीं कर सकते हैं, उन्हें मुफ्त अस्पताल बेड प्रदान करवाना, और इसके अलावा कमजोर वर्ग के लोगों में शिक्षा प्रदान करवाना, और पर्यावरणसंरक्षण के प्रति जागरूकता भरा माहोल प्रदान करना है ।

शारदा वेलफेयर फाउंडेशन के बारे में

शारदा वेलफेयर फाउंडेशन, शारदा अस्पताल का फिलंथरोपीक (परोपकारी) डिविजन है जो ग्रुपकी कमज़ोर वर्ग के लोगों के स्वास्थ्य और रोजगार से जुड़ी सामाजिक कल्याण कार्यों को पिछले दो दशकों से बेहदलगन से निभा रहा है।

शारदा वेलफेयर फाउंडेशन की विभिन्नसामाजिक कल्याण पहलो में ऐसा पर्यावरण संरक्षण, स्वास्थ और शिक्षा शामिल है जिससे हजारों लोगों के जीवन को बेहतरीकी ओर तब्दील किया है। ऐसा ग्रुप की कमजोर वर्ग के लोगों के प्रति जिम्मेदारी की ओरप्रतिबद्धता के कारण ही संभव हो पाया है।शारदा वेलफेयर फाउंडेशन ग्रुप कैंपस के आसपास के क्षेत्रों और गौतम बुध नगर, खुर्जा, बुलंदशहर, अलीगढ़, आगरा, मथुरा और जैसे अन्य ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को स्वास्थ्य से जुड़ी सुविधाओं से जोड़ता है। साथ ही इन क्षेत्रों में सामाजिक विकास से जुड़े लाभ भी प्रदान करता है।

अधिक जानकारी के लिए आप शारदा ग्रुप की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं जिसका एड्रेस है shardawelfare. org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *