मनमानी बिजली बिल को लेकर दिये निर्देश, अगर ज्यादा बिल आया तो इंजीनियर जिम्मेदार होंगे

Satna News: 1 दर्जन उपभोक्ताओं पर बिजली चोरी का केस, धारा 135 के तहत बिजली चोरी का केस दर्ज

मनमानी बिजली बिल को लेकर दिये निर्देश, अगर ज्यादा बिल आया तो इंजीनियर जिम्मेदार होंगे

Satna News: विद्युत कंपनी ने शहर के हाई लॉस फीडरों में बड़ा जांच अभियान छेड़ा है। हाई लाइन लॉस वाले फीडरों के क्षेत्र में आने वाले एक-एक कनेक्शन की जांच के लिए पचास टीमें बनाई गई हैं। टीम में दूसरे डिवीजन के अधिकारी-कर्मचारियों को शामिल किया है।

बुधवार को शहर संभाग के नजीराबाद, खेरमाई रोड, भरहुत नगर, टिकुरिया टोला, सिंधी कैम्प आदि इलाकों में टीमों ने उपभोक्ताओं के विद्युत कनेक्शन चेक किए। इस दौरान होटल, दुकान सहित घरों में बिजली चुराते पकड़े गए एक दर्जन उपभोक्ताओं पर विद्युत कंपनी ने धारा 135 के तहत बिजली चोरी का केस दर्ज किया।

Read More: Ghaziabad News: गाजियाबाद कोर्ट में घुसा तेंदुआ, आठ लोगों को किया जख्मी, 4 घंटे बाद पकड़ा

विद्युत अधिकारियों ने बताया कि नजीराबाद मेन रोड में बिरयानी सेंटर चलाने वाले दुकानदार ने बिजली को डायरेक्टर कर रखा था। आधी दुकान में चोरी की और आधी में कनेक्शन की बिजली जल रही थी। नजीराबाद में ही एक अन्य उपभोक्ता ने सर्विस लाइन को काटकर अवैध कनेक्शन कर लिया था। कार्यपालन अभियंता अमित केवट द्वारा गठित 50 टीमों द्वारा हाई लॉस फीडरों के हर पभोक्ता के परिसर में जाकर किया जा रहा है।

जांच के दौरान प्रत्येक परिसर में स्थापित विद्युत मीटर की बारीकी से जांच की जा रही है और मीटर में न्यूट्रल कंट्रोल, लाइन बाइपास और मीटर बाइपास जेसी अनियमितता पाए जाने पर मौके मे विद्युत चोरी के प्रकरण बनाए जा रहे हैं। टीम में एई कुलदीप मिश्रा,विद्या सागर सिंह, मेेंटेनेंस प्रभारी दिनेश पाल, आरके श्रीवास्तव, कनिष्ठ अभियंता राहुल मिश्रा, गौरव सिंह, देशराज सिंह शामिल हैं।

Read More: Telugu star Samantha Ruth Prabhu ने मुंबई में खरीदा घर ?

6 माह से बिल जमा नहीं कर रहे 16 हजार उपभोक्ता

अधिकारियों ने बताया कि शहर संभाग में 90 हजार उपभोक्ता हैं, जिनमें से 16 हजार ऐसे हैं जो बिजली की तो खूब खपत कर रहे हैं लेकिन बीते छह माह से बिल जमा नहीं किया। ऐसे बकायादार कंपनी के 15 करोड़ रुपए दबाए बैठे हैं। सभी बकायादारों को नोटिसें भेजी जा रही हैं। नोटिस पीरियड में बिल जमा नहीं करने पर शहर में कुर्की की कार्रवाई शुरू की जाएगी। बिल जमा नहीं करने की स्थित में छह माह की अवधि वाले बड़े बकायादारों के बैंक को पत्र लिखकर खाते सीज कराने की कार्रवाई भी होगी।

Read More: Good Afternoon Images

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *