Rewa News: छात्रवृत्ति का फार्म भरने से चूके 57 विद्यार्थी, विवि को बताया जिम्मेदार, कलेक्ट्रेट में जाकर की शिकायत

Awadhesh Pratap Singh University - apsu rewa

Rewa News: अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय के विधि विभाग की लापरवाही के चलते यहां अध्ययनरत 57 विद्यार्थी छात्रवृत्ति का फार्म भरने से चूक गए हैं। विद्यार्थियों का कहना है कि अगर फार्म भरने की लिंक शासन द्वारा दोबारा नहीं खोली जाती तो वह छात्रवृत्ति का फार्म नहीं भर पाएंगे। अगर ऐसा हुआ तो आगामी पांच साल तक छात्रवृत्ति का लाभ नहीं ले पाएंगे।

समस्या के निराकरण की मांग को लेकर शुक्रवार को विद्यार्थियों ने विवि कलेक्टर के नाम अपर कलेक्टर शैलेन्द्र सिंह को ज्ञापन दिया। विद्यार्थियों ने अपने सौंपे ज्ञापन में कहा कि एमपी का टास्क पोर्टल में विद्यार्थी 2021 के छात्रवृत्ति का फार्म नहीं भर पाए हैं। अगर फिर से पोर्टल नहीं खुला तो विद्यार्थी फार्म नहीं भर पाएंगे। छात्रवृत्ति का फार्म नहीं भरने की स्थिति में विद्यार्थी छात्रवृत्ति से वंचित हो जाएंगे ! प्रशासनिक अधिकारियों ने विद्यार्थियों को पोर्टल फिर से खोले जाने का आश्वासन दिया गया है।

Read More: Rewa News: सड़क के बीच गड्ढे जो बनते हैं हादसे की वजह, डामर की जगह भर दी गिट्टी

इस अवसर पर शुभम प्रसाद कुशवाहा, कश्मीरा सिंह पटेल, वसुधा वर्मा, कासिक वर्मा, काजल रजक, सुखेन्द्र कुशवाहा, अनिला परवी, दिव्या सिंह, होमा शाहिर, विवेक सोनी, सुप्रिया सोनी, अमृता कुशवाहा, वंदना कुशवाहा, योगेश यादव, सुभांगनी सोनी, रोहित सेन, सीमा कोरी, आंचल साकेत, रश्मी सांकेत, प्रशांत रावत, अरूणेन्द्र कोल आदि उपस्थित रहे।

क्यों नहीं भर पाए छात्रवृत्ति फार्म

विद्यार्थियों ने बताया कि छात्रवृत्ति का फार्म भरने की अंतिम तिथि 30 सितंबर थी। विवि प्रबंधन द्वारा छात्रवृत्ति का फार्म भरने के संबंध में कोई जानकारी नहीं दी। विश्वविद्यालय के लिपिकों से जब भी छात्रवृत्ति के फार्म भरने की डेट के बारे में पूछने जाते तो हमें बताया जाता कि अभी डेट नही आई है।

Read More: Rewa News: पॉलीटेक्निक कॉलेज में नियमित प्राध्यापकों की कमी, अतिथि विद्वान के भरोसे चल रहा है काम

कैसे चला पता

विद्यार्थियों ने बताया कि गत दिवस हम ओबीसी कल्याण विभाग गए थे। जब हमें बताया गया कि छात्रवृत्ति का फार्म भरने की डेट 30 सितंबर को ही समाप्त हो गई है। अब दोबारा अगर शासन द्वारा लिंक खोली गई तभी विद्यार्थी छात्रवृत्ति का फार्म भर पाएंगे। विद्यार्थियों का कहना है कि विवि द्वारा सही जानकारी न दिए जाने के कारण हम छात्रवृत्ति का फार्म भरने से वंचित हो गए। अगर विवि द्वारा हमें गुमराह न किया जाता तो ऐसा नहीं होता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *