MP New Education Policy: स्कूली छात्रों के लिए सीएम शिवराज ने किया बड़ा ऐलान कहा की…

Chief Minister Shivraj Singh Chouhan- MP NEWS NOW

भोपाल। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में 1 सितंबर से 6वीं से 12वीं तक के छात्रों के स्कूल (MP School) खोल दिए गए है, इसी बीच सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि अब प्रदेश के स्कूलों में छठवीं कक्षा से व्यावसायिक शिक्षा दी जायेगी। प्रधानमंत्री द्वारा लागू की गई नई शिक्षा नीति (new education policy) में कौशल विकास को प्रमुखता से शामिल किया गया है।

दरअसल, रविवार को सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) जबलपुर (Jabalpur) विद्यासागर जी महाराज (Vidyasagar Ji Maharaj) के दर्शन करने जबलपुर पहुंचे थे। वहां उन्होंने ज्ञान देने वाली, कौशल का विकास करने वाली और चरित्र निर्माण कर बेहतर नागरिक बनाने वाली शिक्षा व्यवस्था पर जोर देते हुए कहा कि नई शिक्षा नीति के तहत प्रदेश के स्कूलों में छठवीं कक्षा से व्यावसायिक शिक्षा दी जायेगी।जबलपुर में संचालित प्रतिभास्थली विद्यालय के माध्यम से छात्रों को सर्वांगीण विकास के लिए शिक्षा दी जा रही है।

इसे भी पढ़ें :- किसान आंदोलन : कृषि कानूनों के खिलाफ 27 सितंबर को भारत बंद करेगे किसान

इसे भी पढ़ें :- MP NEWS: मध्य प्रदेश में आज से होगी 10वीं और 12वीं की विशेष परीक्षा

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने यहां संचालित पूर्णायु आयुर्वेद चिकित्सालय एवं अनुसंधान विद्यापीठ का अवलोकन किया। यहां आयुर्वेद का सौ बिस्तरों का अस्पताल चल रहा है और इसे बढ़ाकर जल्दी ही 800 बिस्तरों की क्षमता की जावेगी। साथ ही गरीब और असहाय व्यक्तियों की यहां नि:शुल्क उपचार की व्यवस्था रहेगी। राज्य शासन ने इसी शैक्षणिक सत्र से यहां 100 बालिकाओं के अध्ययन के लिए BAMS पाठ्यक्रम संचालित करने के लिए महाविद्यालय (College) शुरू करने की अनुमति प्रदान की है। इस महाविद्यालय का संचालन गुरूकुल पद्धति से होगा।

इसे भी पढ़ें :- बुजुर्गों के लिए खुशखबरी, नहीं भरना होगा IT रिटर्न, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

बता दे कि हाल ही में सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने ट्वीट कर कहा था कि छठी से 12वीं तक के छात्रों के लिए एक सितंबर से स्कूल खोले जाएंगे। स्कूल 50 फीसदी उपस्थिति और नियमों के पालन के साथ खोले जाएंगे। इस व्यवस्था में अभिभावकों की सहमति अनिवार्य होगी। स्कूल प्रबंधन और अभिभावक को भी सभी गाइडलाइन का पालन करना होगा।कक्षा 1 से 5 के विद्यालयों के संचालन के संबंध में एक सप्ताह पश्चात परिस्थितियों के आधार पर निर्णय लिया जायेगा।

इसे भी पढ़ें :- Breaking News: सेना के एक जवान ने नशे में 3 महिलाओं को गोली मार, आरोपी गिरफ्तार

Follow 👇

लाइव अपडेट के लिए हमारे सोशल मीडिया को फॉलो करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published.