Indore News: TCS और Infosys कंपनियों ने मध्य प्रदेश के लोगों को नहीं दी नौकरी, कंपनियों को दिया नोटिस

TCS And Infosys

इंदौर। सुपर कॉरिडोर (super corridor) पर रियायती दरों में जमीन लेने के बावजूद 50 फीसद मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के लोगों को रोजगार नहीं देने पर प्रशासन ने आइटी कंपनी टीसीएस (TCS) और इंफोसिस (Infosys) को नोटिस दिया है। कंपनियों को तय समयावधि में परिसर में 10 लाख वर्गफीट निर्माण भी करना था, लेकिन एक तिहाई पर ही काम हुआ। प्रशासन ने दोनों कंपनियों को 23 जुलाई तक दिए गए रोजगार की जानकारी देने के लिए कहा है। गौरतलब है कि सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) पिछले दिनों जब इंदौर (Indore) आए थे तो उन्होने कहा था कि टीसीएस (TCS) और इंफोसिस (Infosys) ने जमीन तो खूब ले ली, लेकिन मध्य प्रदेश के लोगों को रोजगार बहुत कम दिया। कंपनियों द्वारा रोजगार न देने से सीएम शिवराज नाखुश थे, उन्होंने कहा था की कंपनियों ने से 4-5 हजार लोगों को ही रोजगार दिया।

इसे भी पढ़ें :- MP NEWS: DAVV मैं CET के लिए आवेदन आज से भरे जाएंगे, जल्दी करे आवेदन

13 हजार को नौकरी देनी थी, मिली 672 को नौकरी

सुपर कारिडोर (super corridor) पर इंफोसिस को 130 एकड़ जमीन दी गई थी। शासन ने 13 हजार प्रदेशवासियों को रोजगार देने की शर्त रखी थी, लेकिन रोजगार मिला सिर्फ 672 लोगों को। टीसीएस कंपनी को भी 15 हजार लोगों को रोजगार देना था, लेकिन साढ़े चार हजार लोगों को ही रोजगार दिया।

इसे भी पढ़ें :- BSEB 12th admission: स्टूडेंट्स के लिए खुशखबरी, आवेदन जमा करने के लिए अंतिम तिथि फिर से बढ़ा दी, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

कंपनियों को 230 एकड़ जमीन दी

सुपर कारिडोर पर दोनों कंपनियों को कुल 230 एकड़ जमीन दी थी। कंपनियों की मांग पर इंदौर विकास प्राधिकरण ने नर्मदा लाइन भी बिछाई थी। एसइजेड स्वीकृत कराकर कंपनियों ने अन्य रियायतें भी ली थी। प्राधिकरण ने किसानों से जमीन लेकर आइटी विभाग को हस्तांरित की थी। इसके बाद विभाग ने दोनों कंपनियों को जमीन दी थी।

इसे भी पढ़ें :- Raksha Bandhan 2021: रक्षाबंधन क्या है? रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है, राखी बांधने का शुभ मुहूर्त

Follow 👇

लाइव अपडेट के लिए हमारे सोशल मीडिया को फॉलो करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *