Corona Vaccine: महिलाओं में वैक्सीनेशन का साइड इफेक्ट हो रहा है

कोरोना वायरस ( coronavirus ) से जंग के बीच नए वर्ष से दुनिया के कई देशों में वैक्सीनेशन ( Corona Vaccination ) शुरू हो चुका है। इसी कड़ी में अमरीका भी शामिल है। जहां फाइजर ( Pfizer ) और मॉडर्ना ( Moderna ) की वैक्सीन लगाने का काम शुरू हो चुका है। जैसे-जैसे वैक्सीनेशन का काम आगे बढ़ रहा है वैसे-वैसे इससे जुड़े साइड इफेक्ट्स की खबरें भी सामने आ रही हैं।

यह भी पढ़ें – शहडोल से रीवा जा रही बस छुहिया घाटी में पलटी, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

यही वजह है कि सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल ऐंड प्रिवेंशन (सीडीसी) अब मामलों को मॉनिटर कर रहा है। साथ ही जिन लोगों को एलर्जिक रिएक्शंस हो रहा है, उन्हें दूसरी डोज न लेने की सलाह दी जा रही है। खास बात यह है कि वैक्सीनेशन से एलर्जी के 90 फीसदी मामले महिलाओं में देखने को मिल रहे हैं।

यह भी पढ़ें – ISRO वैज्ञानिक का सनसनीखेज खुलासा, जहर देकर की गई मारने की कोशिश

अमरीकी मीडिया की रिपोर्टों के मुताबिक, सीडीसी ने कहा है कि फाइजर की वैक्सीन लगाने के बाद एनाफिलेक्सिस (गंभीर एलर्जिक रिएक्शन) के 28 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं मॉडर्ना की वैक्सीन लगाने के बाद एक शख्स में रिएक्शन देखा गया है। अमरीकी पब्लिक हेल्थ एजेंसी के मुताबिक, हर 10 लाख लोगों को किए जा रहे टीकाकरण पर एलर्जिक रिएक्शन की दर 11.1 पर्सेंट है।

आपको बता दें कि फ्लू के मामले में हर दस लाख टीकों पर एलर्जिक रिएक्शन की दर 1.3 है। सीडीसी की वीकली रिपोर्ट पर गौर करें तो 14 से 23 दिसंबर के बीच फाइजर की वैक्सीन के 18.96 लाख डोज दिए गए। इनमें से एनाफिलेक्सिस के 21 केस मिले।

यह भी पढ़ें – Raveena Tandon ने UpComing Movie KGF Chapter 2 को लेकर लेकर खुलासा!

टीकाकरण के पहले 15 मिनटों में रिएक्शन
वैक्सीनेशन किए जाने के पहले 15 मिनटों 71 फीसदी एलर्जिक रिएक्शन सामने आए हैं। खास बात यह है कि इनमें 90 फीसदी महिलाएं शामिल हैं। गंभीर एलर्जी रिएक्शन मामलों में महिला मरीजों की संख्या ज्यादा है। हालांकि अधिकारियों का कहना है कि प्रति दस लाख पर 11 एलर्जिक रिएक्शन के मामलों के बावजूद फाइजर की वैक्सीन को सेफ कहा जाएगा।

यह भी पढ़ें – मुंबई पुलिस ने अरबाज खान और सोहेल खान के खिलाफ FIR दर्ज, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

पहले से एलर्जिक लोगों को ज्यादा खतरा
यूएसए टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक वैक्सीन लगने के 30 मिनट के अंदर रिएक्शन वाले 86 फीसदी मामले हैं। खास बात यह है कि इनमें वे लोग ज्यादा शामिल हैं जिन्हें पहले से ही कोई ना कोई एलर्जी की समस्या है। यानी वैक्सीनेशन से उन लोगों को ज्यादा खतरा है जो पहले ही किसी तरह की एलर्जी से परेशान हैं।

यह भी पढ़ें – Sacred Games Season 3 के फैंस के लिए झटका, Nawazuddin Siddiqui ने दिया बड़ा बयान, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

50 लाख लोगों को दी जा चुकी वैक्सीन
अमरीका में वैक्सीनेशन का काम तेजी से चल रहा है। यहां अब तक फाइजर और मॉडर्ना दोनों वैक्सीन करीब 50 लाख लोगों को दी जा चुकी है। आपको बता दें कि फाइजर की वैक्सीन के 16 दिन बाद मियामी में एक डॉक्टर की मौत हो गई थी। वहीं ब्रिटेन में फाइजर का टीका लगाने के 48 घंटे में ही एक हेल्थ वर्कर भी दम तोड़ चुकी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.