Coronavirus Latest Update: Britain में कोरोना का नया स्ट्रेन मिला है जो 70% ज्यादा गति से फैल रहा है, भारत में भी चिंता की बात

भारत में कोरोनावायरस के हाथ में की तारीख धीरे-धीरे नजदीक आ रही है। वजह यह है कि भारत में जनवरी से एक और उनके खिलाफ व्यक्ति नाम लोगों तक पहुंच जाएगी। लेकिन इसके साथ-साथ ब्रिटेन में एक नई तरीके की चिंता सामने आ रही है। दरअसल, ब्रिटेन और यूरोप के अलग-अलग देशों में कोरोना का एक नया प्रकार सामने आया है। कोरोना का एक नया स्ट्रेन सामने आया है जो 70% ज्यादा गति के साथ लोगों में संक्रमण फैला सकता है, लेकिन इसके साथ-साथ. चिंता है।

भारत में भी हैं जो कि भारत दुनिया का दूसरे नंबर का ऐसा देश है जहां पर संक्रमण के मामले सबसे ज्यादा है और इसी के साथ भारत में कोरोनावायरस के झोंके से हैं। वह 10000000. के पार पहुंच चुके हैं। हालांकि भारत के लिए अच्छी खबर यह है कि अब धीरे-धीरे यहां पर कैसे से कम होने शुरू हो गए हैं, लेकिन अगर यह स्क्रीन भारत में आ जाता है तो भारत सरकार की चिंताएं बढ़ सकती हैं और यही वजह है कि भारत सरकार ने एक हाई लेवल कमिटी की जो बैठक है। उसे तुरंत बुलाया है, लेकिन भारत के लिए कौन सी ट्रेन टाइम हो सकती हैं?

Read More: मध्य प्रदेश पुलिस को मिलेगा मनचाहा ट्रांसफर, जानिये क्या है मामला

नया स्क्रीन के तरीके का है और क्या व्यक्ति इस नई ट्रेन जाने राजधानी लंदन समेत पूर्वी इंग्लैंड में कोरोनावायरस का नया प्रकार या फिर से स्क्रीन कहते हैं। बेकाबू होता जा रहा है। लंदन की इस बेहद खराब हालत को देखते हुए नीदरलैंड जैसे कई देशों ने ब्रिटेन से उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है। कोरोनावायरस से न केवल भारत बल्कि इटली नीदरलैंड में ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका में भी फैल गया है। नया तरीके का जो मिला है नया प्रकार का यह कोरोनावायरस मिला है। उसके साथ सबसे बड़ी दिक्कत यह है कि 70% ज्यादा तेजी के साथ संक्रमण फैलाता है और यही वजह है कि भारत सरकार ने यह अहम बैठक बुलाई है।

साथ ही भारत सरकार के एक सूत्र ने बताया है कि ब्रिटेन में कोरोनावायरस के नए प्रकार के चलते इस पर चर्चा के लिए स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक जाने की डीजीएचएस की अध्यक्षता में आज यानी कि सोमवार को संयुक्त निगरानी समूह की बैठक होनी। भारत में विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि डॉ रॉडरिको को ओपन भी बैठक में शामिल हो सकते हैं।

आपको बता दें कि ब्रिटेन में जो कोरोनावायरस का नया सिम मिला है, उसकी वजह से वहां पर हालात बेकाबू हो गए हैं। वह भी तब जब 15 दिन से 21 दिन पहले ब्रिटेन में 5000 वैक्सीन लोगों तक लगना शुरू भी हो चुकी है और यही वजह है कि गौरव के अलग-अलग देशों ने चीन से आने वाली तमाम जितनी साइट से ऊपर रोक लगा दी है। साथ ही ब्रिटेन ने भी देश के अलग-अलग हिस्सों में सख्त लॉकडाउन लगा दिया है। माना जा रहा है कि कोरोनावायरस का नया प्रकार ब्रिटेन में संक्रमण को तेजी से फैलाने के लिए जिम्मेदार है और सिर्फ भारत ही नहीं गौरव भी इस नए प्रकार से डरा हुआ है।

लेकिन आप लोगों के मन में यही सवाल होगा कि क्या जो कोरोनावायरस का नया प्रकार विश्व में मिला है और इसके साथ-साथ तेजी से दूसरे देशों में भी फैल रहा है। क्या वैक्सीन इस पर काम करेगी तो इसका जवाब है और यही वजह है कि अच्छी खबर यह है कि जितनी भी दुनिया में में vaccines बन रही है वह तमाम तरह के कोरोनावायरस कितने भी रूप बदल ले। उसके बाद भी वैक्सीन इस पर काम करने वाली है। साथ ही इस ट्रेन के बारे में यह भी कहा जा रहा है कि वायरस ज्यादा घातक नहीं है।

वह जर्मनी ब्रिटेन से आने वाली उड़ानों की संख्या सीमित करने पर विचार कर रहा है ताकि इसका प्रकोप दूसरे यूरोपीय देशों में ना पहले वहीं से ब्रिटेन से आने जाने वाली उड़ानों पर कम से कम इस साल के अंत तक रोक लगा दी है और बेल्जियम ने आधी रात से ब्रिटेन में आने जाने वाली उड़ानों पर 24 घंटे के लिए रोक लगा दी है। भेजो नहीं तो ब्रिटेन को जोड़ने वाली रेल सेवा को भी स्थगित कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *