Bharat Bandh: भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर और मंदसौर में अलर्ट

नई दिल्ली। चुनिंदा किसान संगठनों द्वारा मंगलवार को किए गए भारत बंद के आह्वान को लेकर मध्य प्रदेश सरकार अलर्ट है। सीमावर्ती जिलों में जांच के साथ ही किसान नेताओं पर नजर रखी जा रही है। भोपाल, इंदौर, जबलपुर, मंदसौर, रतलाम और ग्वालियर में विशेष इंतजाम किए गए हैं। प्रदेश में पेट्रोल पंप खुले रहेंगे। दूध और दवा की आपूर्ति में भी कोई बाधा नहीं आने दी जाएगी। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने बंद का समर्थन किया है। संगठन ने सभी जिला अध्यक्षों को जिला मुख्यालय में प्रदर्शन करने और प्रशासन को ज्ञापन सौंपने के निर्देश दिए हैं।

एमपी में सतर्कता

  • प्रदेशभर में खुले रहेंगे पेट्रोल पंप, दूध की आपूर्ति सुनिश्चित करने के किए इंतजाम।
  • इंदौर, मंदसौर, रतलाम सहित कुछ जिलों में अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

  • 24 कंपनियां सशस्त्र बल की तैनात
  • 4000 होमगार्ड की ड्यूटी लगाई गई है
  • 800 प्रशिक्षित सिपाही डटे रहेंगें

नये कानूनों से बिचौलिए खत्म होंगे। किसान और उपभोक्ता को फायदा होगा। इनसे न तो न्यूनतम समर्थन मूल्य की व्यवस्था खत्म होगी और न ही मंडियां बंद होंगी। – कमल पटेल, कृषि मंत्री, मप्र किसानों से सहमति लिए बगैर कानूनों को लागू कर दिया। इनमें न्यूनतम समर्थन मूल्य की ग्यारंटी का जिक्र नहीं है। मंडी व्यवस्था समाप्त होगी, सिर्फ उद्योगपतियों को फायदा होगा। – कमल नाथ, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष

भोपाल के सीमावर्ती थानों में अतिरिक्त बल बुलाया, हर वाहन की होगी जांच

किसान आंदोलन को लेकर मंगलवार को भोपाल बुलाए गए भारत बंद के आह्वान को देखते हुए पुलिस ने अपनी तैयारी कर ली है। पुलिस ने सीमावर्ती थानों में पुलिस बल की संख्या बढ़ा दी है। खजूरी सड़क, परवालिया, मिसरोद, रातीबड़, नजीराबाद, सूखीसेवनिया जैसे शहर के सीमावर्ती थानों पुलिस बल बढ़ा दिया है। भारी वाहनों को चेकिंग के बाद ही शहर में प्रवेश दिया जाएगा। एएसपी रजत सकलेचा ने बताया कि भारत बंद को लेकर पुलिस ने भी लोगों की सुरक्षा व्यवस्था की तैयारी पूरी कर ली है। मंगलवार को रिजर्व पुलिस बल और थानास्तर का बल मिलाकर करीब 2200 का पुलिस बल तैनात रहेगा। एसएएफ और आरएएफ का पुलिस बल भी तैनात रहेगा। भोपाल के सीमावर्ती थानों जिनमें ग्रामीण क्षेत्र भी शामिल रहेगा वहां अधिक निगरानी रहेगी। पुलिस ने शहर में 110 चेकिंग प्वाइंट बनाए हैं। 10 पेट्रोलिंग पार्टिंयां पूरे शहर में लगातार भ्रमण करती रहेंगी और अधिकारियों को रिपोर्ट देंगी। पुलिस ने सोमवार दोपहर से ही शहर के अंदर आने वाले वाहनों की चेकिंग शुरू कर दी है। डीआइजी इरशाद वली ने कहा कि बंद को लेकर इंतजाम पूरे कर लिए हैं। जो जबरन बंद कराने की कोशिश करेगा उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

इंदौर में जबरन बंद कराने पर होगी कार्रवाई

किसानों के भारत बंद को लेकर इंदौर जिले में 200 पुलिसकर्मियों का अतिरिक्त बल लगाया गया है। सभी एडीशनल एसपी अपने क्षेत्र के प्रभारी होंगे। मंगलवार को बंद के दौरान यदि कोई जबरदस्ती दुकानें बंद कराते हुए पाया जाता है तो उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। बंद को लेकर डीआइजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने सोमवार को चर्चा के दौरान सभी थाना प्रभारियों को अपने थाना क्षेत्र में लगातार निगरानी रखने के लिए कहा है। बंद को लेकर किसी प्रकार का हंगामा व विरोध करने पर भी कार्रवाई होगी। पुलिस को लगातार पेट्रोलिंग करने के लिए भी कहा गया है। लोगों की संदिग्ध गतिविधि नजर आने पर उनसे पूछताछ की जाएगी।

ग्वालियर में पुलिस ने 20 से अधिक वाहन करेंगे पेट्रोलिंग

ग्वालियर में पुलिस बंद समर्थकों के सड़कों पर निकलने से दो घंटे पहले मोर्चा संभाल लेगी। 24 स्थाई पिकेट लगाए गए हैं। इसके अलावा 20 से अधिक वाहन शहर में पेट्रोलिंग करेंगे। टीआइ के अलावा सीएसपी, एएसपी अपने-अपने क्षेत्रों में निगरानी के लिए पेट्रोलिंग करेंगे। किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए जवानों के हाथों में डंडा, जाली व सिर पर हेलमेट होना चाहिए। शहर की कानून व्यवस्था बिगाड़ने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। एडीएम किशोर कान्याल ने बताया कि हाइवे पर आने-जाने वाले किसानों को रोका नहीं जाएगा। साथ ही हाइवे को जाम नहीं होने दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *